दिल्ली से बिहार के मोतिहारी आ रही स्लीपर कोच फिरोजाबाद एक्सप्रेस हाइवे पर दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई। इसमें 14 लोगों की मौत हो गई। मृतको में पांच बिहार के हैं। खबर से चीख-पुकार मची है।
पटना, जेएनएन। दिल्ली से बिहार के मोतिहारी जा रही नमस्ते बिहार ट्रेवल्स बस फिरोजाबाद के नगला खंगर के पास खड़े ट्राला में घुस गई, इस भीषण हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई, जिसमें से पांच मृतक बिहार के मोतिहारी जिले के रहने वाले हैं। दुर्घटना में शिवहर नगर पंचायत वार्ड 15 निवासी लड्डू उर्फ इस्ताक (35) के मौत की पुष्टि हो गई है। घायलों में तरियानी थाना क्षेत्र के रामपुर यदु निवासी मो. फहीम मंसूरी (50) एवं हाजरा खातून (45) की पहचान हुई है। दोनों पति-पत्नी सैफई हॉस्पिटल में इलाजरत हैं। 
इधर मृतक लड्डू के घर मातम का माहौल है। पत्नी हसीना खातून (30) पुत्री रौशनी (10), पुत्र लाडले एवं दानिश (6) का रो- रोकर बुरा हाल है। आसपास के लोग सांत्वना देने में लगे हैं। बताया गया है कुछ शवों की पहचान अभी नहीं हो पाई है।
हादसे पर सीएम नीतीश ने जताया दुख
बस हादसे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरी संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये की अनुदान राशि देने की घोषणा की है। वहीं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए सीएम नीतीश ने उनके परिजनों को 50 हजार रुपये की अनुदान राशि देने की बात कही है।ढ़ें
बस का ड्राइवर मोतिहारी के फेनहारा का निवासी था
जानकारी के मुताबिक लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बुधवार की रात बस दुर्घटना में मृतक बस के चालक और उप चालक पूर्वी चंपारण जिला के फेनहारा निवासी बताए गए हैं। वहीं यात्रियों में एक की पहचान कुंडवा चैनपुर थाना क्षेत्र के निवासी के रूप में की गई है। मौत की सूचना जैसे ही संबंधित इलाके में पहुंचने के साथ ही कोहराम मच गया।
मृतक के स्वजनों का रो रोकर बुरा हाल है। आसपास के लोग उन्हें ढांढस बंधा रहे हैं। बताया जाता है कि दिल्ली से बस शिवहर जा रही थी। नमस्ते नामक यह बस गोपालगंज के रास्ते जिले के पिपराकोठी, चकिया,मधुबन होते हुए शिवहर तक जाती है। बस चालक फेनहारा निवासी मो. कलामुद्दीन उर्फ मुन्ना (38) पिता मोहम्मद ईशा तथा उपचालक मोहम्मद सेराज आलम (40) पिता शेख हमीद था, जिसकी हादसे में मौत हो गई।
वहीं बस में सवार यात्री कुंडवाचैनपुर थाना क्षेत्र के हरदिया टोला जफरुल मियां की भी मौत हो जाने की सूचना है। वहीं इसी थाना क्षेत्र के गवन्द्री गाव निवासी रईसुल के घायल होने की सूचना है। अन्य हताहतों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
बस और ट्राला की जोरदार हुई थी टक्कर 
हादसा इतना भीषण था कि बस में फंसे घायलों को निकालने के लिए बस के हिस्से को गैस कटर से काटा गया। वहीं हादसे में घायल 20 से ज्यादा यात्रियों को सैफई ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। 
जानकारी के मुताबिक बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे दिल्ली से आगरा एक्सप्रेस-वे के रास्ते स्लीपर बस बिहार जा रही थी। बस में पांच दर्जन से ज्यादा यात्री सवार थे। कुछ लोग सीट पर थे और कुछ स्लीपर सीट पर लेटे थे। रात लगभग साढ़े दस बजे नगला खंगर थाना क्षेत्र में किमी 71 के पास तेज रफ्तार बस आगे खड़े ट्राला में जा घुसी।
सैफई आते समय रास्ते में 7 लोगों की मौत हो गई जबकि 30 से ज्यादा लोगों को भर्ती कराया गया है। मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है, अधिकांश बिहार के बताए जा रहे हैं। जानकारी मिलने पर चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर डॉक्टर आदेश कुमार, एसडीएम सैफई हेम सिंह, क्षेत्राधिकारी चंद्रपाल सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंच गए हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को तत्काल मौके पर पहुंचकर बचाव एवं  राहत कार्य सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। साथ ही घायलों के समुचित उपचार के प्रबंध करने के भी निर्देश दिए हैं।
Share To:

Post A Comment: