बिहार बोर्ड की मैट्रिक की परीक्षा 17 फरवरी यानी सोमवार से शुरू होगी। परीक्षा 24 फरवरी तक चलेगी। फर्जीवाड़ा रोकने के लिए पहली बार उत्तर पुस्तिका और ओएमआर शीट पर भी परीक्षार्थियों की तस्वीर रहेगी। अब तक केवल प्रवेश पत्र और उपस्थिति पत्रक पर ही तस्वीर होती थी। इस तरह परीक्षार्थियों की तस्वीर चार जगह रहेगी। परीक्षा केंद्रों के आसपास दो सौ मीटर में धारा 144 लागू रहेगी। परीक्षार्थी जूता-मोजा पहनकर न जाएं। 
बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बोर्ड परिसर में शनिवार को आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि परीक्षा दो पालियों में होगी। पहली पाली में बैठने वाले परीक्षार्थी रोजाना पहली पाली में ही परीक्षा देंगे। इसी तरह दूसरी पाली वाले परीक्षार्थी भी दूसरी पाली की परीक्षा में ही शामिल होंगे। 
इस बार सौ अंक की  परीक्षा में साठ वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। इनमें पचास का जवाब देना होगा। ऐसा पहली बार किया गया है। अब तक पचास वस्तुनिष्ठ सवाल ही पूछे जाते रहे हैं। कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए हर जिले में परीक्षा केंद्रों पर त्रिस्तीय मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। परीक्षार्थियों की तलाशी दो स्तरों पर ली जाएगी।
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि परीक्षा में 15 लाख 29 हजार 393 छात्र-छात्राएं शामिल होंगी। पहली पाली में सात लाख 74 हजार 415, जबकि दूसरी पाली में सात लाख 54 हजार 978 परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्रदेशभर में 1368 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। इस बार छात्राओं की संख्या छात्रों की अपेक्षा अधिक है। सात लाख 83 हजार 34 छात्राएं तो सात लाख 46 हजार 359 छात्र परीक्षा देंगे। पहली बार 92 लाख उत्तर पुस्तिका और 92 लाख ओएमआर पर परीक्षार्थियों की फोटो रहेगी। 
पहली पाली में 9.20 बजे अंतिम प्रवेश 
बोर्ड अध्यक्ष ने सभी परीक्षार्थियों से परीक्षा केंद्र पर समय से पहले पहुंचने की अपील की है। उन्होंने कहा कि पहली पाली की परीक्षा 9.30 बजे शुरू होगी, इसके लिए अंतिम प्रवेश 9.20 बजे तक ही मिलेगा। इसी तरह दूसरी पाली दोपहर 1.45 बजे शुरू होगी। इसके लिए अंतिम प्रवेश 1.35 बजे तक ही मिलेगा। 
तलाशी के बाद वीक्षक भरेंगे शपथपत्र
परीक्षा केंद्रों पर छात्राओं की तलाशी के लिए अलग से तलाशी रूम बनाए गए हैं। वहीं, दूसरी बार परीक्षा हॉल में वीक्षकों द्वारा तलाशी ली जाएगी। छात्रों की तलाशी के बाद वीक्षकों को शपथ पत्र भरकर बोर्ड को देना होगा कि सभी छात्रों की तलाशी अच्छे तलाशी ली गयी है। 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक की व्यवस्था की गयी है। 
छात्राओं की तलाशी महिला पुलिस करेगी 
हर केंद्र पर पुलिस बल की तैनाती की गयी हैं। छात्राओं की तलाशी के लिए महिला पुलिस हर केंद्र पर रहेगी। इसके अलावा सभी केद्रों पर महिला वीक्षक, महिला केंद्राधीक्षक, महिला पदाधिकारी और कर्मी मौजूद रहेंगी। 
सभी जिलों में मॉडल परीक्षा केंद्र 
सभी जिलों में चार-चार स्कूलों को मॉडल केंद्र बनाए गए हैं। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि मॉडल केंद्र पर दंडाधिकारी, वीक्षक, सुरक्षाकर्मी सभी महिलाएं ही रहेंगी। मॉडल केंद्र की तैयारी के लिए सभी जिलों को एक-एक लाख दिये गये हैं। 
सभी केंद्रों पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरे
केंद्र के अंदर परीक्षार्थी के अलावा कोई अनाधिकृत व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकेगा। सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसके अलावा पांच सौ परीक्षार्थियों पर एक वीडियोग्राफर की व्यवस्था की गयी है।    
प्रवेश प्रत्र पर फोटो त्रुटि का होगा भौतिक सत्यापन 
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि जिन परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र पर फोटो की त्रुटि हो तो वे अपने साथ दस्तावेज लेकर आयेंगे। इन दस्तावेजों में आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या फोटोयुक्त बैंक पासबुक लेकर केंद्र पर जायेंगे। उसका भौतिक सत्यापन किया जायेगा। इसके बाद वे परीक्षा में शामिल होंगे। दस्तावेज का मूल और फोटो कॉपी दोनों लेकर आना होगा। 
पटना जिला में 74 केंद्रों पर 69 हजार परीक्षार्थी होंगे शामिल 
पटना जिला से इस बार 69 हजार 178 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगी। यहां भी छात्रों से अधिक छात्राएं परीक्षा देंगी। छात्र 32 हजार 285 और छात्राएं 36 हजार 890 हैं। पटना जिले में 74 केंद्र बनाये गये हैं। शास्त्रीनगर बालिका उच्च विद्यालय, गर्दनीबाग गर्ल्स हाई स्कूल, बांकीपुर गर्ल्स हाई स्कूल और कमला नेहरू हाई स्कूल को मॉडल केंद्र बनाया गया है। प्रथम पाली में 34 हजार 920 व दूसरी पाली में 34 हजार 255 परीक्षार्थी शामिल होंगे। 
परीक्षार्थी रखें इन बातों का ध्यान 
- प्रश्न पत्र, उत्तरपुस्तिका और ओएमआर उत्तर पत्रक आदि को पढ़ने के लिए 15 मिनट का समय दिया जायेगा 
- जूता-मोजा पहन कर न जाएं
- कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट आदि लेकर नहीं जाएं 
- केंद्र पर केवल पेन और एडमिट कार्ड लेकर जसपस है
- आपस में बातचीत करने पर निष्कासित कर दिया जायेगा 
- उत्तरपुस्तिका, ओएमआर उत्तर पत्रक पर व्हाइटनर, इरेजर, नाखून,  ब्लेड आदि का इस्तेमाल न करें
- परीक्षा शुरू होने के एक घंटा बाद ही परीक्षा हॉल से निकल सकेंगे 
- उत्तर पुस्तिका और वस्तुनिष्ठ प्रश्न के उत्तर के लिए ओएमआर उत्तर पत्रक एक ही समय पर दिए जाएंगे। निर्धारित समय के बाद ओएमआर उत्तरपत्रक ले लिया जायेगा 
- दिव्यांग परीक्षार्थी को प्रति घंटा 20 मिनट अतिरिक्त दिए जाएंगे
by shubhanshu (mtvnews.in)
Share To:

Post A Comment: