वैशाली जिले के राजापाकर के एक धार्मिक अनुष्ठान में तेजप्रताप ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार कंस का वध हुआ था उसी प्रकार 'नीतीश कुमार का 2020 के चुनाव में वध हो जाएगा।'
पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव एकबार फिर अपने बयानों को लेकर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए। तेजप्रताप यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘कंस’ बता दिया। वैशाली जिले के राजापाकर के एक धार्मिक अनुष्ठान में तेजप्रताप ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार कंस का वध हुआ था उसी प्रकार ‘नीतीश कुमार का 2020 के चुनाव में वध हो जाएगा।’

इस दौरान उन्होंने उपस्थित लोगों से नारा लगवाते हुए पूछा, ‘2020 में किसका वध होगा?’ इसके बाद भीड़ ने जवाब दिया, ‘नीतीश कुमार का’। तेजप्रताप ने कहा, “जिस प्रकार कंस का सफाया हुआ, वैसे ही 2020 के चुनाव में इनका (नीतीश) भी सफाया होगा।”

इस धार्मिक समारोह में तेजप्रताप ने अपने अंदाज में फिर बांसुरी बजाई और शंख बजाकर सभा में मौजूद लोगों को अपनी और आकर्षित किया। इस कार्यक्रम में तेजप्रताप के बयान का वीडियो अब वायरल हो रहा है।
तेजप्रताप के इस बयान के बाद वे विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं और उनके बयान की निंदा की गई है। बिहार के एमएलसी और भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया सह संयोजक संजय मयूख ने शुक्रवार को कहा, “उस पर क्या बोलूं, वह तो अबोध है।” संजय मयूख ने तेजप्रताप को अबोध कहकर यह संदेश देने की कोशिश की कि वह इतने गंभीर नहीं हैं कि उनके बयान को तूल दिया जाए।
संजय मयूख ने पार्टी मुख्यालय पर मीडिया से बातचीत में कहा कि राज्य में 2020 के विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की ही सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का शनिवार को बहुप्रतीक्षित दौरा हो रहा है। उनका बिहार से पुराना जुड़ाव रहा है, ऐसे में राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार उनका राज्य का दौरा बेहद खास है। संजय मयूख ने बताया कि शनिवार को बिहार दौरे के दौरान पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा कुल 11 जिला कार्यालयों का भी उद्घाटन करेंगे।
Share To:

Post A Comment: