बिहार में जल्द 4800 करोड़ का निवेश होगा। इसके तहत 1200 करोड़ रुपये की लागत से फूड प्रोसेसिंग उद्योग लगाने के लिए राज्य सरकार के उद्योग विभाग और आईटीसी ग्रुप के बीच शुक्रवार को सहमति बनी। आईटीसी ग्रुप के प्रधान चितरंजन धर ने बताया कि मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर में 1200 करोड़ रुपये की लागत से फूड प्रोसेसिंग उद्योग लगाने का फैसला हुआ है।
बियाडा की जमीन पर उद्योग लगेगा। अप्रैल में भूमि पूजन होगा। कंपनी की तकनीकी टीम 3 से 7 मार्च के बीच आवंटित भूमि का सर्वे एवं स्थल निरीक्षण करेगी। उद्योग मंत्री श्याम रजक ने कहा कि बिहार में निवेश बढ़ाने को विभिन्न शहरों में रोड-शो का आयोजन किया जा रहा है। हाल ही में मुंबई, पुणे, सूरत एवं अहमदाबाद में रोड शो किया गया। इससे निवेशकों में उत्साह देखा जा रहा है।
4800 करोड़ का निवेश होगा श्याम रजक ने कहा कि राज्य निवेश प्रोत्साहन पर्षद द्वारा ऑनलाइन निवेश की मंजूरी दी जा रही है। वरुण वेवरेज, आईटीसी, श्री सीमेंट, जेके लक्ष्मी सीमेंट, श्याम मेटल, प्रिंस पाइप द्वारा 4800 करोड़ के निवेश की सहमति बनी है।
बिहार में 2000 करोड़ का इन्वेस्टमेंट, मुजफ्फरपुर में लगेगा सीमेंट प्लांट, युवाओं को मिलेगा रोजगार
बिहार में पहले से चल रहे श्रीसीमेंट ने राज्य में 2000 करोड़ रुपए का निवेश प्रस्ताव दिया है। यह जानकारी उद्योग मंत्री श्याम रजक को श्रीसीमेंट के संयुक्त अध्यक्ष श्रीनाथ साबूर और जितेंद्र प्रसाद सिंह ने मुलाकात के दौरान दी। उन्होंने मंत्री को बताया कि कंपनी ने उत्तर बिहार में 500 करोड़ का निवेश करने का निर्णय लिया है। इसके लिए बियाडा से मोतिपुर चीनी मिल की जमीन देने की मांग की। इसके अलावा कंपनी सोलर पावर प्लांट स्थापित करने के लिए 1500 करोड़ का निवेशकरेगी। मंत्री ने उन्हें हर तरह की सरकारी सुविधा देने का आश्वासन दिया।
उन्होंने बताया कि बियाडा के प्रबंध निदेशक आरएस श्रीवास्तव से मोतीपुर चीनी मिल की खाली भूमि लेने को लेकर बातचीत की जा रही है। जल्द ही कंपनी की टेक्नीनिकल टीम भूमि का निरीक्षण करने को लेकर बिहार आएगी और प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण करेगी। श्रीनाथ ने उद्योग मंत्री के समक्ष राज्य के गया में सोलर पावर प्लांट लगाने को लेकर 150 करोड़ रुपये निवेश का भी प्रस्ताव रखा। कहा कि इसके लिए जमीन की खोज की जा रही है।

Share To:

Post A Comment: