Jharkhand , chatra news सिमरिया : झारखंड के चतरा जिले में आवासीय विद्यालय की एक छात्रा के गर्भवती होने का मामला उजागर हुआ है. विद्यालय की आठवीं की छात्रा (14 वर्ष) डेढ़ माह की गर्भवती है. मामले की जांच जारी है. छात्रा ने पेट दर्द की शिकायत शिक्षिका से की. उसके बाद शिक्षिका 14 फरवरी को छात्रा को लेकर  रेफरल अस्पताल पहुंची. वहां जांच के बाद चिकित्सक ने छात्रा के गर्भवती होने की बात बतायी. तब जाकर मामले का खुलासा हुआ.
मामले को विधायक किशुन कुमार दास ने गंभीरता से लिया. उन्होंने कहा कि मामले की उच्चस्तरीय जांच करायी जायेगी और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी. मामले की जानकारी होने के बाद पत्रकारों की टीम रविवार को विद्यालय पहुंची, लेकिन वहां प्राचार्य  मौजूद नहीं थे. इस संबंध में जब शिक्षिका से  पूछा गया तो उन्होंने  कहा कि गर्भवती होने की बात बेबुनियाद है. छात्रा को सर्दी व बुखार का इलाज कराने अस्पताल ले गये थे.  प्रधानाचार्य से जब फोन कर मामले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मामला आधारहीन है. स्कूल को बदनाम करने की साजिश है.
रेफरल अस्पताल के डॉ एम अहमद ने कहा कि आवासीय विद्यालय की शिक्षिका छात्रा को लेकर यहां आयी थी. जांच में छात्रा के गर्भवती होने की पुष्टि हुई थी. छात्रा का दो बार प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया गया था, दोनों टेस्ट में पॉजिटिव निकला.
.आवासीय विद्यालय की आठवीं कक्षा की छात्रा(14 वर्ष) के गर्भवती होने के मामले की जांच करने एसडीओ दीपू कुमार के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम जांच विद्यालय पहुंची. टीम में एसडीओ दीपू कुमार के अलावे जिला कल्याण पदाधिकारी सलमान खिजरी, लावालौंग बीडीओ शैलेंद्र कुमार व सीडीपीओ प्रतिमा कुमारी शामिल हैं. टीम विद्यालय में दो घंटे तक मामले की जांच पड़ताल करती रही.
एसडीओ ने बताया कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है. विद्यालय के शिक्षकों से पूछताछ की गयी है. लड़की विद्यालय में नहीं थी, जिसके कारण उसका बयान नहीं मिल पाया है. लड़की का पक्ष आने के बाद नियम संगत दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी. पूछे जाने पर एसडीओ ने कहा कि प्रथम दृष्टया में कुछ जानकारी नहीं है. जांच पड़ताल जारी है.
Share To:

Post A Comment: