बेगूसराय : लोहियानगर ओपी थाना क्षेत्र अंतर्गत शनिवार को बाधा रेलवे ओवरब्रिज के निकट दोपहर 5 लाख रुपये बदमाशों के द्वारा छिनतई करने के दौरान बाइक चालक के गिरने से सिर में गंभीर चोटें लगने से घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर लोहियानगर ओ पी के थानाध्यक्ष रामप्रताप पासवान अपने सशस्त्र पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।
मृतक की पहचान मटिहानी थाना क्षेत्र के मुनियप्पा, गांव निवासी मुक्तेश्वर कुवंर के 35 वर्षीय पुत्र शशि कुमार के रूप में की गई । मृतक व्यक्ति रजौड़ा चौक पर एसबीआई बैंक का ग्राहक सेवा केन्द्र चलाता था ।सदर अस्पताल मे मृतक के पीछे बाइक पर बैठे उनके अपने फुफेरी भाई सह ग्राहक सेवा केंद्र के कर्मचारी डंडारी गाँव निवासी अजय कुमार उर्फ गुलाब ने पुलिस को बताया कि बाधा में एसबीआई शाखा बैंक से 5 लाख रुपये बैंक से निकालकर अपने बाइक से शशि सुभाष चौक की तरफ बाइक से जा रहे थे ।
इसी बीच बाघा रेलवे ओवरब्रिज पर चढ़ते ही बाइक सवार दो बदमाशों ने बाइक सलार के बीच में रखें रुपये के थैले को झपट्टा मार कर छिनकर भाग गए ।इसी दौरान सीएसपी के संचालक अपने बाइक पर संतुलित होकर सड़क पर गिर गए। सिर से उनका हेलमेट भी खुलकर दूर जाकर गिरा और उनकी मौत सड़क पर सिर फटने के कारण हो गई ।
वही शब को ट्रैफिक चौक के पास रखकर मृतक के परिजनों ने घंटों किया सड़क को जाम
पोस्टमार्टम कराने के बाद घर के परिजनों ने एनएच 130 ट्रैफिक चौक के पास मृतक के शव को रखकर सड़क को जाम कर आवागमन को घंटों ठप रखा मृतक के परिजन आरोप लगा रहे थे कि मृतक को धारदार हथियार से सिर पर प्रहार करके उसकी हत्या की गई है यह सड़क दुर्घटना नहीं है घर के परिजन एसपी से मांग कर रहे थे कि से पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर स्पीडी ट्रायल करा कर शीघ्र इस केस का अनुसंधान करावे ।
सड़क जाम रहने के कारण दोनों तरफ ट्रक बस के अलावे अन्य सवारी गाड़ियों की लंबी कतारें लग गई थी । नगर थानाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार झा और लोहियानगर ओपी की थानाध्य रामप्रताप पासवान ने घटना स्थल पर पुलिस बल के साथ पहुंचकर आक्रोशित लोगों को काफी समझाने बुझाने का काम कर रही थे ।लेकिन आक्रोशित घर के परिजन एसपी साहब को घटनास्थल पर बुलाने की मांग पर अड़े थे। मृतक के परिजनों को पुलिस ने काफी समझा-बुझाकरके 8:30 बजे रात्रि में सड़क जाम को हटवाया। उसके बाद आवागमन सड़क पर सामान्य हुआ।
घटना की जानकारी मिलते ही मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। उनकी पत्नी और बच्चे का रोते-रोते हाल बुरा है । मृतक को एक बेटा और एक बेटी है। पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया। वहीं रुपये छिनतई मामले की जांच के लिए पूछताछ कर्मचारी से नगर थाने लेजाकर रही थी। इस संबंध में स्थानीय लोग व पीड़ित परिवार के लोग कर्मचारी के बयान और उनकी भूमिका को संदिग्ध मान रहे हैं। पुलिस घटना के बाद हर बिंदु की जांच में जुटी थी।
By Shubhanshu (mtvnewsbihar)
Share To:

Post A Comment: