बेटी ऐश्वर्या राय के चुनाव लड़ने को लेकर उन्होंने कहा कि अभी ऐसी कोई बात नहीं है लेकिन अगर उसकी इक्षा, लोगों की इक्षा होगी तो मेरी इक्षा की क्या बात है. चुनाव लड़ने की इक्षा ऐश्वर्या व जनता के इक्षा पर निर्भर करता है.
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के समधी और तेज प्रताप के ससुर चंद्रिका राय ने जदयू में जाने के संकेत दिए हैं। चंद्रिका राय ने कहा कि राजद में कई लोग असंतुष्ट हैं। कई विधायकों में भी असंतोष है। जिस तरह से पार्टी चल रही है उसकी वजह से कार्यकर्ता भी खुश नहीं है। मेरी जानकारी के मुताबिक कई लोग हैं जो पार्टी छोड़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे पर लोगों को भरोसा है। 2020 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी। चंद्रिका राय अभी परसा सीट से राजद विधायक हैं।
चंद्रिका ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कई लोगों ने राजद के साथ विश्वासघात किया। लोगों ने पार्टी की तरफ से घोषित उम्मीदवारों का भी विरोध किया। खुले तौर पर भी पार्टी का विरोध कर रहे नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। तेजस्वी यादव पर भी सवाल उठाए गए। कुछ लोग तो कहते हैं कि तेजस्वी में क्षमता ही नहीं है। दो मीटिंग करने के बाद ही वह थक जाते हैं। पार्टी के खिलाफ बगवात करने वालों के खिलाफ न तो कोई कार्रवाई हुई और न शोकॉज नोटिस दिया गया। इस सवाल पर कि अगर जदयू में जाते हैं तो कहां से चुनाव लड़ेंगे, चंद्रिका ने कहा कि जहां से चुनाव लड़ता आया हूं वहीं से चुनाव लड़ूंगा।
चंद्रिका राय ने मई 2018 में अपनी बेटी ऐश्वर्या राय की शादी लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप से की थी। शादी के कुछ ही दिनों बाद तेज प्रताप और ऐश्वर्या के बीच मनमुटाव हो गया। तेज प्रताप ने नवंबर 2018 में कोर्ट में तलाक की अर्जी दी। इसके बाद भी ऐश्वर्या राबड़ी आवास में ही रहती थी। लेकिन दोनों परिवारों के बीच दूरियां बढ़ने लगी। पिछले दिनों राबड़ी आवास में हुए जबरदस्त फैमिली ड्रामे के बाद ऐश्वर्या अपने पिता के घर आ गई और सास राबड़ी देवी पर दहेज उत्पीड़न और मारपीट का केस दर्ज कराया था। इसके बाद चंद्रिका राय ने लालू परिवार का चेहरा बेनकाब करने की बात कही थी।
चंद्रिका राय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा राय के बेटे हैं। चंद्रिका लालू-राबड़ी सरकार में और महागठबंधन की सरकार में मंत्री रह चुके हैं। अभी परसा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। लोकसभा चुनाव में सारण सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन हार गए थे।

Share To:

Post A Comment: