बेगूसराय के केंद्र बिंदु में स्थापित माँ काली के मंदिर में विगत 107शनिवार से लगातार बिना थके,बिना रुके हुए चाहे मौसम अनुकूल हो या कितना भी विषम परिस्थिति क्यों न हो,फिर भी महाआरती के पश्चात  प्रसाद वितरण का कार्यक्रम जयमंगला वाहिनी करते आ रही हैं।आरती का मुख्य उद्देश्य है युवाओं के अंदर अपनी संस्कृति से रूबरू कराना।

आमजनों के आपसी सहयोग से जयमंगला वाहिनी ने अपना विस्तारीकरण किया।अब ज़िले के अलग-अलग जगहों पर जैसे कि चट्टीरोड हनुमान मंदिर,रजौड़ा हनुमान मंदिर,संजात दुर्गा मंदिर,हनुमान मंदिर,तेलिया पोखर,रतनपुर,सिसौनी दुर्गा स्थान सहित अन्य मंदिरों में भी आरती के बाद जयमंगला वाहिनी के द्वारा प्रसाद वितरण किया जा रहा हैं।

108 अंक का सनातन धर्म में एक विशेष स्थान है इसलिए महाआरती के पश्चात प्रसाद वितरण के 108वें शनिवार को भव्य और आकर्षक रुप देने के लिए जयमंगला वाहिनी की पूरी टीम लगी हुई हैं।
             
आज 108वाँ शानिवार को महाआरती में शामिल होकर  ऐतिहासिक पल का गवाह बनें।महाआरती के बाद भंडारे की विशेष व्यवस्था की गई हैं।
Share To:

Post A Comment: