बेगूसराय : बेगूसराय सदर प्रखंड के रजौड़ा पंचायत में 18 महीने 23 दिनों के बाद मुखिया पद पर हुए उपचुनाव की मतगणना में गीता देवी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सुधांशु कुमार को हराकर मुखिया पर पर काबिज हुईं. 
 
प्रखंड निर्वाचन पदाधिकारी के द्वारा विजय प्रत्याशी को प्रमाणपत्र प्रदान  किया गया. वर्ष 2016 के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सुधांशु कुमार मुखिया पद पर जीत हासिल की थी. उनकी उम्र कम रहने के कारण राज्य निर्वाचन आयोग ने मुखिया पद के लिए उन्हें अयोग्य करार देते हुए पद को रिक्त घोषित कर दिया. 
 
इसके बाद िनर्वाचन आयोग के िनर्देश के िवरोध में सुंधाशु कुमार ने  हाइकोर्ट में याचिका दायर कर दी. इसी क्रम में निर्वाचन आयोग के निर्देश पर आठ जुलाई 2018 को पुन: उपचुनाव कराया गया. उपचुनाव में 6434 वोटरों में 4146 ने मताधिकार का प्रयोग किया था. लेकिन हाईकोर्ट द्वारा मतगणना पर रोक लगाये जाने के कारण वोटों की गिनती नहीं हो पायी थी.
 
 लंबी सुनवाई के बाद हाईकोर्ट द्वारा मतगणना पर रोक संबंधित आदेश को वापस लेने के बाद 31 जनवरी 2020 को राज्य निर्वाचन आयोग ने 11 फरवरी को सुबह आठ बजे मतगणना कराने का निर्देश जिलाधिकारी को दिया था. इसी के तहत चाक-चौबंद व्यवस्था के बीच मंगलवार को मतगणना करायी गयी. 
 
12 में से 11 इवीएम  की करायी मतगणना
बताया जाता है कि आठ जुलाई 2018 को कुल 12 बूथों पर इवीएम के जरिये मुखिया पद के लिए उपचुनाव कराया गया था. मतगणना के लिए जब इवीएम को लगाया गया तो उसमें से एक इवीएम में खराबी आ गयी. 
 
जिसके कारण 11 इवीएम की मतगणना की गयी. इसमें प्रत्याशी गीता देवी को 2079 मत मिले. वहीं उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी रहे प्रत्याशी सुधांशु कुमार को 1419 मत प्राप्त हुए. जिस इवीएम में खराबी आयी उसमें कुल 434 मत थे. मामले को लेकर प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ डॉ अभिजीत कुमार चौधरी ने वस्तु स्थिति से अवगत कराते हुए राज्य निर्वाचन आयोग से मार्गदर्शन मांगा.
 
 राज्य निर्वाचन के निर्देश मिलने के बाद गीता देवी को विजयी घोषित किया गया. बताया गया कि अगर 12वें इवीएम मशीन में पड़े 434 मत को सुधांशु कुमार को ही मिलता है फिर भी गीता देवी की 226 मतों से जीत होती है. वोटों के अंतर को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने गीता देवी के पक्ष में फैसला दिया. मतगणना में पर्यवेक्षक के रूप में एडीएम स्थापना मौजूद रहे. 
 
मतगणना कार्यों का निरीक्षण बेगूसराय डीएम अरविंद कुमार वर्मा, जिला पंचायती पदाधिकारी मंजू प्रसाद, एसडीएम संजीव चौधरी सहित कई अधिकारियों ने किया. प्रमाण पत्र लेकर निकलते ही नवनिर्वाचित मुखिया को फूल-माला से स्वागत किया. समर्थकों ने एक-दूसरे को रंग-अबीर लगाकर जीत की बधाई दी और खुशी का इजहार किया.
by shubhanshu (mtvnews.in)
Share To:

Post A Comment: