बेगूसराय : नगर थाना क्षेत्र के हरर्ख निवासी मनोज पासवान के माँ की मृत्यु बुधवार के रात हो गयी मनोज पासवान वर्षों पहले अपना हिन्दू धर्म परिवर्तन कर पूरे परिवार सहित ईसाई धर्म को अपना लिया था लेकिन मृतिका जीते जी हिन्दू धर्म को ही मानती रही।

हमरा मरे के बाद गारिहे नय जलाय दिहे

परिजनों ने बताया मृतिका जीते जी बोलती थी कि हमको मरने के बाद जमीन ने दफनाना मत जला देना लेकिन बुधवार की रात में माँ की मृत्यु के बाद गुरुवार के दिन ईसाई बेटा उसे जलाने के बदले दफनाने के लिये बखरी की ओर पिकप गाड़ी पर सवार होकर शव को कॉफिन बॉक्स में रखकर अपने परिवार बालों और रिश्तेदारों के साथ चल पड़ा इसी आस पास के लोगों ने इसकी सूचना हिन्दू धर्म संगठन बजरंग दल को दे दी इसी बीच बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गाड़ी को कोरिया चौक के पास रोक दिया और हिन्दू धर्म के रीति रिवाज से मृतिका के दाह संस्कार करने की बात मृतिका के बेटे से करने लगा।मृतिका के दमाद ने बताया कि मेरा शाला जिद्दी है हमलोग भी चाहते हैं कि हिन्दू रीति रिवाज से दाह संस्कार हो।
मौके पर बजरंग दल के प्रांत सहसंयोजक शुभम भारद्वाज ,विकास भारती, रामनरेश टूको , राजकमल ने पहुँच कर परिजनों को समझा बुझाकर मृतिका के दाह संस्कार करने की बात मनोज से कहने लगे। लगभग आधे घण्टे तक कोरिया चौक पर यह सब घटनाक्रम चलता रहा। तब जाकर मनोज ने सिमरिया जाकर दाह संस्कार करने की बात पर राजी होकर सिमरिया के तरफ चल दिया रास्ते में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी परिजनों को और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं से सारा क्रिया कर्म हिन्दू रीति रिवाज से करबाने की बात कही तब जाकर सिमरिया में दाह संस्कार हुआ।
By Shubhanshu (mtvnewsbihar)
Share To:

Post A Comment: