नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि चुनाव जीतने के लिये अधिक से अधिक लोगों को राजद की विचारधारा से जोड़ना होगा। व्यवहार से लोगों का दिल जीत पार्टी में स्थान बनाना होगा। 23 फरवरी को बेरोजगरी हटाने के लिये वेटनरी कॉलेज मैदान में आम सभा होगी। उसके बाद बेरोजगारी हटाओ यात्रा के अंतर्गत गांव-गांव की यात्रा वह खुद करेंगे ।
नेता प्रतिपक्ष गुरुवार को नवमनोनीत प्रदेश कमेटी के पदधारकों को संबोधित कर रहे थे। बैठक पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास दस सर्कुलर रोड पर हुई। उन्होंने कहा कि कमेटी में सभी वर्ग को प्रतिनिधित्वदिया गया है। पार्टी ने संगठन मे आरक्षण के वायदे को पूरा कर सब को अवसर दिया है। राजद15 सालों तक सत्ता मे रहने के बावजूद कई चुनाव हारी। इसपर चर्चा होनी चाहिये। गलतियों को चिन्हित करें और ध्यान रखें कि उनकी पुनरावृत्ति ना हो। राजद के बारे मे गलत प्रचार किया जाता है कि पार्टी उच्च जाति की विरोधी है। हम प्रगतिशील समाज का पूरा आदर करते है और उनके हक की लड़ाई लड़ते हैं। पार्टी के नए अधिकारियों की बड़ी जिमेदारी है वे अभी से मेहनत कर पार्टी को घर घर पहुचाएं।  
कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति लोगों मे भारी गुस्सा है। बिहार मे शिक्षा और चिकित्सा क्षेत्र मे गिरावट आई है। अपराधी निर्भीक हो गए है। केन्द्र सरकार बिहार की अनदेखी कर रही है। देश की निगाह बिहार पर है। अध्यक्षता प्रदेश राजद अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने की और राज्य से बूथ स्तर के राजद अधिकारियों से कहा कि वे अपने घर, दरवाजे पर राजद का झंडा लगाएं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि भाजपा की दिल्ली से बिदाई हो चुकी है अब बिहार से उन्हें भगाना बाकी है।
 
भाजपा के सामने समर्पण कर चुके सीएम : तेजस्वी
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आरएसएस और भाजपा के सामने आत्मसमर्पण कर चुके हैं।  उन्होंने सीएए, एनपीआर और एनआरसी पर केंद्र समर्थन देने के बाद अब आरक्षण खत्म करने पर भी चुप है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सीएम एकमात्र ऐसे नेता हैं जिनके पास कोई विचारधारा नहीं है। उनका केवल एक ही उद्देश्य है। साठ प्रतिशत युवा आबादी वाले राज्य में विकास और नए विकसित बिहार का कोई लक्ष्य, सपना और रोडमैप उनके पास नहीं है। आखिर कब तक बिहार को पिछड़ा और गरीब राज्य रखेंगे? अब तो केंद्र और राज्य दोनों जगह एक ही गठबंधन की सरकारें है। 15 वर्ष शासन करने के बाद भी ये लोग क्यों बताते कि बिहार को कैसे आगे बढ़ायेंगे?
by shubhanshu (www.mtvnews.in)
Share To:

Post A Comment: