चेरिया बरियारपुर बेगूसराय। कावर झील में सालों भर जल संचयन के लिए झील तक पहुंचने वाले विभिन्न जलश्रोतों के साथ झील को बूढ़ी गंडक नदी से जोड़ने के लिए बनाए जाने वाले नहर योजना के लिए
चेरिया बरियारपुर, बेगूसराय। कावर झील में सालों भर जल संचयन के लिए झील तक पहुंचने वाले विभिन्न जलश्रोतों के साथ झील को बूढ़ी गंडक नदी से जोड़ने के लिए बनाए जाने वाले नहर योजना के लिए स्थल का मुआयना गुरुवार को जिलाधिकारी अरविद कुमार वर्मा ने किया। इस क्रम में जिलाधिकारी ने रमौली, हरसाईन पुल, परोड़ा, नारायण पीपर, सांवत, सकरबासा होते हुए बसही पहुंचे जहां उन्होंने बूढ़ी गंडक नदी के सीपेज एरिया का भी मुआयना किया। उन्होंने एसडीएम मंझौल दुर्गेश कुमार को बसही बूढ़ी गंडक नदी से कावर झील तक पहुंचने वाले मार्ग को शीघ्र बनाने का भी आदेश दिया। उन्होंने कहा कि इस जल मार्ग के तहत सभी जमीन सरकारी होंगे। डीएम ने जलश्रोत वाले मार्ग से अतिक्रमण हटाने व अवरुद्ध जलमार्ग को साफ कराने का निर्देश दिया। मालूम हो कि बीते कुछ वर्षो से झील सूख गया था। इस वर्ष वर्षा होने से झील में फिलहाल पानी है। झील में सालों भर पानी रहे, इसके लिए लगातार क्षेत्र से आवाज उठ रही थी। इसको ले सरकार ने बूढ़ी गंडक नदी से झील तक जल पहुंचाने की योजना की रूप-रेखा तैयार की है और उसे उसे मूर्त रूप देने के लिए जिलाधिकारी के इस दौरे से मछुआरों सहित प्रकृति प्रेमियों के बीच काफी हर्ष है।
छौड़ाही प्रतिनिधि के अनुसार बाढ़ और बारिश के पानी से जलजमाव की समस्या के समाधान एवं इस जल के खेती में उपयोग करने की वास्तविक स्थिति को देखने जिलाधिकारी अरविद कुमार वर्मा सभी अधिकारियों के साथ छौड़ाही पहुंचे। उन्होंने राजोपुर चिमनी के पास बंद भंवरा का निरीक्षण किया। इसको ले अंचल अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसके बाद उन्होंने विभिन्न पंचायतों के जल निकासी मार्ग का अवलोकन किया। नारायण पीपड़ पंचायत के गुआवाड़ी घाट पहुंच कावर मुख्य नहर का निरीक्षण कर अधिकारियों व ग्रामीणों के साथ जल निकासी के संबंध में मंत्रणा की। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि छौड़ाही, खोदावंदपुर, गढ़पुरा एवं चेरिया बरियारपुर प्रखंड के बारिश व बाढ़ का जल कुछ वर्ष पहले कावर में आता था। यह कावर का मुख्य नहर है। लेकिन इन प्रखंडों के जलप्रवाह मार्ग में अतिक्रमण के कारण सिर्फ बरसात के समय में ही नहर में पानी रहता है। मौके पर एसडीएम मंझौल दुर्गेश कुमार, बीडीओ छौड़ाही प्रशांत कुमार, सीओ छौड़ाही सुमंत नाथ, ओपी अध्यक्ष ओम प्रकाश, गौरव कुमार आदि अधिकारी मौजूद थे।
by shubhanshu (www.mtvnews.in)


Share To:

Post A Comment: