पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने गुरुवार को राज्य में एनएच से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा की। साथ ही सभी योजनाओं की गुणवत्ता पर ध्यान देने के साथ निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गांधी सेतु के समानांतर गंगा पर बनने वाले पुल का कार्यादेश इसी महीने जारी हो जाएगा। पटना रिंग रोड का हिस्सा शेरपुर-दिघवारा के बीच गंगा नदी पर छह लेन पुल और कन्हौली-रामनगर सड़क के फोरलेनिंग कार्य को प्राथमिकता दी जाएगा। इसका टेंडर जल्द करने को कहा गया है।
बैठक के बाद मंत्री ने बताया कि हाजीपुर-मुजफ्फरपुर सड़क पर सराय के पास एक सप्ताह में काम शुरू करने के साथ ही हाजीपुर आरओबी के शेष कार्य को जल्द पूरा करने को कहा गया है। इस सड़क के खराब भाग को जल्द ठीक करने का निर्देश दिया गया। बैठक में प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा भी थे।
मंत्री ने बिक्रमशीला सेतु के समानांतर बनने वाले पुल की मंजूरी जल्द लेने का निर्देश अधिकारियों को दिया गया है। कोसी नदी पर फुलौत में बनने वाले पुल का टेंडर भी इसी साल होगा। इस कार्य पर 15 सौ करोड खर्च होंगे। गांधी सेतु के समानांतर पुल पर 2900 करोड़ की लागत आएंगी। इस पुल का टेंडर हो चुका है।
बैठक में मंत्री ने विश्व बैंक के सहयोग से एनएच 104 का कार्य तीन खण्डों में करवाया जा रहा है। खण्ड एक की धीमी प्रगति पर उन्होंने असंतोष व्यक्त साथ ही एग्रीमेंट के अनुसार काम करने का निदेश दिया गया। एनएच 106 के मधेपुरा-उदाकिशुनगंज की भी धीमी प्रगति पर उन्होंने असंतोष व्यक्त किया।  

श्री यादव ने बताया कि पूर्णिया-नरेनपुर (एनएच131ए), बख्तियारपुर-रजौली (एनएच 31) और आरा-मोहनियां (एनएच 30) की फोरलेनिंग का काम भी जल्द शुरू होगा। इनका टेंडर इस साल कर लिया जाएगा। एनएच 83 (पटना-गया-डोभी पथ) के पुनर्निर्माण के लिए तीन पैकेज में निविदा की गई है। इसी माह कार्यादेश जारी होगा। बेलागंज-चाकंद-गया-डोभी रोड को अगले 15 दिनों के अन्दर सुगम यातायात योग्य बनाने का निदेश दिया गया। विष्णुपुरा-भैरोपुर-निजामत रोड का निर्माण एक सप्ताह में पूर्ण कराने के साथ ही इस परियोजना के को जून तक हर-हाल में पूर्ण करने का निदेश दिया गया।
यादव ने बताया कि एनएच 107 के खण्ड-दो के तहत मधेपुरा-पूर्णिया रोड का कार्य जारी है। खण्ड-एक महेशखुंट-मधेपुरा का कार्य अभी तक प्रारम्भ नहीं हो सका है उसे जल्द शुरू करने को कहा गया है। पासवान चौक-मुसरीघरारी, बरबीघा-शेखपुरा-जमुई, सिमुलतला-कटोरिया, बिहारशरीफ-जहानाबाद, लक्ष्मीपुर- कटौना, गिद्घौर-झाझा-सोनो, पचपहाड़ी-भमदाह, सत्तरघाट-चकिया का टेंडर हो चुका है।
by shubhanshu (mtvnews.in)
Share To:

Post A Comment: