नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पहली बार पूर्वोत्तर के दौरे पर जा रहे हैं। पीएम मोदी असम के कोकराझार जा रहे हैं, जहां बोडो समझौते को लेकर आयोजित कार्यक्रम में वह शिरकत करेंगे। पीएम का दोपहर 12.30 बजे कोकराझार में एक रैली को भी संबोधित करने कार्यक्रम है। इसमें करीब पांच लाख लोगों के शामिल होने की संभावना है और यह अब तक का सबसे बड़ा आयोजन होगा। उससे पहले वहां स्वागत की तैयारी जबरदस्त है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए कोकराझार तैयार है। पूरे शहर में मानो उत्सव का माहौल है। बीती रात असम का ये शहर लाखों दीये से ऐसे रोशन हुआ, मानो दीवाली आ गई हो।
प्रधानमंत्री मोदी बोडो समझौते की खुशी में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने कोकराझार आ रहे हैं। पीएम के स्वागत में जगह-जगह बड़े बैनर लगाए गए हैं। असम के विभिन्न जनजाति समूहों के कलाकार पीएम के स्वागत में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करेंगे।
बता दें कि अभी ज्यादा दिन नहीं हुए जब पीएम मोदी को सीएए को लेकर भड़के आक्रोश की वजह से असम में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ शिखर सम्मेलन को रद्द करना पड़ा था, लेकिन केंद्र सरकार के एक अन्य फैसले ने तस्वीर पूरी तरह बदल दी है। कोकराझार में लोगों ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए गुरुवार को सड़कों और गलियों में मिट्टी के दीए जलाए।
गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में 27 जनवरी को बोडो समझौते पर हस्ताक्षर किया गया था। समझौते के दो दिन के भीतर नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड के अलग-अलग गुटों के करीब 1615 उग्रवादी अपने हथियार डाल कर मुख्यधारा में शामिल हो चुके हैं। समझौते के तहत क्षेत्र के विकास के लिए करीब 1500 करोड़ रुपये का विशेष पैकेज रखा गया है। इस मौके पर पूर्वोत्तर के कई राज्यों के सीएम मौजूद रह सकते हैं।
By Shubhanshu (mtvnewsbihar)
Share To:

Post A Comment: