PATNA : बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी है. इस कानून को सफल बनाने के लिए सरकार की ओर से कई कदम उठाये जा रहे हैं. अब सरकार ने एक नया निर्णय लिया है. सूबे के शराबियों को बिहार पुलिस ने सम्मानित करने का फैसला लिया है. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने इसके लिए ख़ास वजह भी बताया है. उन्होंने कहा कि जब शराबियों को सम्मानित किया जायेगा, तो उनकी बीवी, बच्चे और माता-पिता को भी बुलाया जायेगा. 
पटना में बिहार पुलिस सप्ताह-2020 के मौके पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि आदतन शराबियों को सम्मानित करने का ऐलान किया गया है. उन्होंने खुद कहा कि सम्मान समारोह में शराबियों की पत्नी, बेटा औऱ माता पिता सभी को आमंत्रित किया जाएगा. पुलिस महकमे ने प्रदेश के सभी 40 पुलिस जिलों से वैसे आदतन शराबियों को सम्मानित करने का फैसला किया है जो अब शराब पीना छोड़ चुके हैं. बिहार पुलिस ने इसके लिये राजधानी पटना में सम्मान समारोह आयोजित करने का फैसला किया है. 
यह कार्यक्रम 27 और 28 फरवरी को आयोजित किया जाना था, लेकिन व्यस्तता की वजह से पहले आयोजित किए जाने का फैसला किया गया है. डीजीपी ने कहा कि समारोह में एक ओऱ जहां शराबी अपनी आपबीती सुनाएंगे, वहीं उनके परिजन अपना संस्मरण सुनाएंगे. इसमें घर के मुखिया के शराब पीने के दौरान होनेवाली परेशानियों का जिक्र होगा. सम्मानित होनेवाले ये ऐसे लोग होंगे, जिनकी पहचान पियक्कड़ के रूप में होती थी और जो शराब के बिना एक पल भी जी नहीं सकते थे. डीजीपी ने कहा कि बिहार पुलिस ऐसे सभी शराबियों को अपना ब्रांड एम्बेसडर घोषित करेगी जो सभी जिलो में घूम-घूम कर शराब से होनेवाले नुकसान का जिक्र करेंगे और दूसरे लोगों से शराब छोड़ने के लिए प्रेरित करेंगे.
Share To:

Post A Comment: