बरौनी, बेगूसराय। कपड़ा व्यवसायी की हत्या के विरोध में सोमवार को स्थानीय व्यवसायियों एवं ग्रामीणों ने बरौनी चौक पर शव के साथ जाम लगा दिया। इसके साथ पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने काफी समझाने का प्रयास किया। आक्रोशित लोग अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। तेघड़ा एसडीपीओ, एसडीओ आदि अधिकारियों ने अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद शाम चार बाद आक्रोशित लोग जाम हटाने को राजी हुए।
बताते चलें कि रविवार की संध्या लगभग पांच बजे बाइक सवार तीन की संख्या में सशस्त्र अपराधियों ने बरौनी चौक स्थित राजू-शेखर ड्रेसेज के मालिक पिता-पुत्र दीनदयाल रोड निवासी चंद्रभूषण प्रसाद एवं सौरभ कुमार को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। जिसमें सौरभ कुमार की मौत हो गई। जबकि चंद्रभूषण प्रसाद को गंभीर स्थिति में ग्लोकल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां समाचार प्रेषण तक उनका इलाज चल रहा है।
घटना के विरोध में आक्रोशित व्यवसायियों ने सोमवार की अलसुबह से ही बरौनी चौक पर शव के साथ सड़क जाम कर दिया और अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग करने लगे। इस दौरान पुलिस प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी भी की। सूचना मिलते ही एसडीपीओ तेघड़ा आशीष आनंद, एसडीओ डॉ. निशांत, तेघड़ा थानाध्यक्ष हिमांशु कुमार सिंह, सर्किल इंस्पेक्टर बरौनी अच्छे लाल, फुलवड़िया थानाध्यक्ष सुमंत चौधरी, रिफाइनरी ओपी थानाध्यक्ष विवेक भारती, वीरपुर थानाध्यक्ष, एफसीआइ थाना, फुलवड़िया, जीरोमाइल, भगवानपुर, तेयाय ओपी एवं बछवाड़ा थाना के पुलिस अधिकारी लोगों को समझाने का प्रयास कर रहे थे। परंतु, पुलिस की बात मानने को तैयार नहीं हुए। वे लोग एसपी को घटनास्थल पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। बाद में सदर एसडीपीओ राजन सिन्हा घटनास्थल पहुंचे एवं तेघड़ा एसडीपीओ एवं एसडीओ सहित अन्य पदाधिकारियों के पुन:समझाने के बाद एवं अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन देने के बाद मामला शांत हुआ और सड़क जाम समाप्त किया। जबकि इससे पूर्व रविवार की संध्या में भी लगभग पांच-छह घंटे तक आक्रोशित लोगों द्वारा बरौनी चौक पर शव के साथ सड़क जाम किया था। पुलिस के काफी मशक्कत के बाद सड़क जाम समाप्त हुआ था, इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। परंतु, पोस्टमार्टम से शव आने के बाद पुन: सोमवार की अलसुबह शव के साथ सड़क जाम कर दिया।

Share To:

Post A Comment: