पटना 22 व 23 मार्च को राज्य के विभिन्न जिलों में हुई बारिश से रबी फसलों के क्षति की सूचना कृषि विभाग को मिली है। विभाग ने ऐसे किसानों को क्षतिपूर्ति के तहत इनपुट अनुदान देने की घोषणा की है। मंत्री ने कहा कि फरवरी माह में भी असमय वर्षा, आंधी व ओलावृष्टि के कारण खड़ी फसलों की क्षति के लिए 11 जिलों से रिपोर्ट मिली थी। औरंगाबाद, भागलपुर, बक्सर, गया, जहानाबा, कैमूर, मुजफ्फरपुर, पटना, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर व वैशाली में प्रभावित किसानों को कृषि इनपुट अनुदान देने का निर्णय लिया गया है। इन जिलों के 13 लाख 23 हजार 903 किसानों ने ऑनलाइन आवेदन किया गया है।
विभाग क्षतिपूर्ति का आकलन कर रहा है। कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि असिंचित क्षेत्र में फसल के लिए 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर और सिंचित क्षेत्र के किसान को प्रति हेक्टेयर 13500 रुपए अनुदान मिलेगा। एक किसान अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए अनुदान ले सकता है। प्रभावित किसान को इस योजना में न्यनतम 1000 रुपए अनुदान मिलेगा।
4 से 7 मार्च और 13 से 15 मार्च के बीच भी असमय वर्षा, आंधी और ओलावृष्टि से किसानों के रबी फसलों की क्षति हुई थी। सभी जिला पदाधिकारियों के माध्यम से जिला कृषि पदाधिकारयों से फसलों की हुई क्षति का आकलन कर रिपोर्ट मांगी गई है।
Share To:

Post A Comment: