नीतीश कुमार, फाइल फोटो।पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दूसरे राज्याें से फ्लाइट, रेल या बस से आने वाले सभी यात्रियों की सघन स्क्रीनिंग कराने को कहा है। उन्होंने इसके लिए आवश्यक उपकरणों व अतिरिक्त आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। कोरोना से संबंधित तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को 1 अणे मार्ग में उच्चस्तरीय बैठक की।
सीएम ने कहा- अतिरिक्त आइसोलेशन वार्ड के लिए पूर्व में ही स्थान चिह्नित कर लें। टेस्टिंग लैब भी बढ़ाएं। समीक्षा बैठक के बाद सीएम ने सभी डीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। उन्होंने बताया कि रेलमंत्री से कम से कम ट्रेन चलाने का अनुरोध किया है। इससे कोरोना का संक्रमण फैलने पर रोक लग सकेगी।
उन्होंने सभी डीएम को ग्रामीण इलाकों में माइकिंग से लोगों से घरों में रहने की अपील करने को कहा। बाेले-लोक शिकायत निवारण केन्द्र, लोक सेवा केन्द्र, डीटीओ कार्यालय, निबंधन केन्द्र को बंद रखें। सीएम ने स्पेशल ट्रेनों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग करने के बाद सरकारी वाहनों से घरों तक पहुंचाने का निर्देश दिया है। उन्होंने पुणे, केरल और बेंगलुरु से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों पर विशेष नजर रखने को कहा है। वहीं, मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि मुम्बई से आने वाली चार स्पेशल ट्रेनों के लिए बक्सर, आरा और दानापुर में तीन स्टॉपेज तय की गई है। जो यात्री यहां उतरेंगे, उन्हें बसों में बिठाकर निश्चित जगह पर वहां के डीएम ले जाएं। उनकी स्क्रीनिंग करें। उनका मोबाइल नंबर और रजिस्ट्रेशन दर्ज करें। संदिग्ध को कोरेंटाइन के लिए ले जाएं।
स्वास्थ्य विभाग का निर्देश-होटलों के बैंक्वेट हॉल पर भी लगी रोक 
स्वास्थ्य विभाग ने राज्यभर के रेस्टोरेंट और मैरिज हॉल व होटलों के बैंक्वेट हॉल को 31 तक बंद करने का आदेश दिया। हालांकि वहां से खाना पैक करावा कर घर ला सकते हैं। इस बीच कोरोना के मद्देनजर 29 मार्च को होने वाली बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा स्थगित कर दी गई। यह निर्णय शनिवार को एलएनएमयू के वीसी की अध्यक्षता में हुई बैठक में हुआ।
ट्रेन से आने वाले सचिवालय कर्मियों के दफ्तर आने पर रोक
कोरोना के संक्रमण के खतरे को देखते हुए 31 मार्च तक ट्रेन से आने वाले सचिवालय के कर्मचारी और पदाधिकारियों के ऑफिस आने पर रोक लगा दी है। शनिवार को सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने इस संबंध में निर्देश जारी किया। इन कर्मचारियों और पदाधिकारियों की छुट्टी में कोई कटौती नहीं की जाएगी।
अब तक 22 राज्य प्रभावित, बिहार बचा हुआ है
स्वास्थ्य मंत्रालय की लिस्ट में 18 राज्यों व 4 केंद्र शासित क्षेत्रों का नाम है जहां कोराना के मरीज पाए गए हैं। शुक्र है इस सूची में बिहार नहीं है। लेकिन खतरा टला नहीं है। दिल्ली, मुंबई, कोच्चि, पुणे, एनराकुलम, लुधियाना, नोएडा, सूरत, बेंगलुरू से लोग घर लौट रहे हैं।  ये कोरोना संक्रमित राज्यों के शहर हैं। घर लौट रहे लोगों की उन राज्यों में स्क्रीनिंग भी नहीं हुई है। जो लौटे हैं अब उनकी स्क्रीनिंग मुश्किल है।
Share To:

Post A Comment: