निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह रात को सुप्रीम कोर्ट के बाहर पिटते-पिटते बचे। दरअसल, कोर्ट के बाहर एपी सिंह ने निर्भया के चरित्र पर उंगली उठाते हुए टिप्पणी की थी, जिसपर वहां मौजूद अन्य लोग भड़क गए थे। निर्भया के वकील एपी सिंह के लिए लोग अभी भी गुस्से में हैं। फांसी के बाद भी तिहाड़ के बाहर लोग उनकी बात कर रहे थे।
क्या हुआ था
एपी सिंह ने निर्भया की मां और निर्भया पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। एपी सिंह ने कहा था कि निर्भया की मां को नहीं मालूम था कि उनकी बेटी रात 12.30 बजे तक कहां थी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में मौजूद लोगों ने उन्हें टोका और चरित्र पर टिप्पणी के लिए माफी मांगने को कहा। मौके की नजाकत को भांपते हुए एपी सिंह वहां से निकलते बने।

'पागलखाने चले जाएं एपी सिंह'
निर्भया केस में जिस तरह एपी सिंह ने दोषियों का केस लड़ा, उससे काफी लोग उनसे नाराज हैं। तिहाड़ के बाहर कई लोग उनके खिलाफ नारेबाजी करते दिखे। एक शख्स ने कहा कि अब एपी सिंह को पागलखाने चले जाना चाहिए। उन्हें वकालत छोड़कर संन्यास ले लेना चाहिए।
Share To:

Post A Comment: