बिहार में कोरोना वायरस का मुकाबला अब मुखिया जी करेंगे। नीतीश सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मुखिया जी जिम्मेवारी देने का फैसला किया है। सरकार को रोना के रोकथाम के लिए अब मुखिया जी को अहम भूमिका देने जा रही है।
राज्य के मुखिया लोगों से राज्य के मुख्य सचिव आज शाम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पंचायतों में मौजूद मुखिया के साथ हालात की समीक्षा करेंगे और उनकी जवाबदेही भी तय करेंगे।
बिहार में लगभग 8000 से ज्यादा मुखिया है और करो ना वायरस से रोकथाम में इनकी बड़ी भूमिका हो सकती है। राज्य सरकार का मानना है कि सुदूर ग्रामीण इलाके में जो लोग भी राज्य के बाहर से आए हैं उनकी पहचान मुखिया कर सकते हैं। अगर किसी की तबीयत खराब है तो इसकी जानकारी पंचायत स्तर पर मुखिया को मिल सकती है। ऐसे में सरकार ने यह तय किया है कि मुखिया की जिम्मेदारी कोरोना से मुकाबले में तय की जाए। मुख्य सचिव ने इस बात के संकेत दिए हैं कि पंचायत स्तर पर गांवों में क्वारेंटीन सेंटर बनाने की जरूरत है सरकार इस दिशा में आगे कदम उठाएगी।
Share To:

Post A Comment: