बिहार लड़ेगा कोरोना के खिलाफ जंग, मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन में जमा हुए करोड़ों रुपयेकोरोना के खिलाफ जारी जंग के बीच एक बड़ी बात सामने आई है। मुख्यमंत्री राहत कोष में सोमवार को विभिन्न निगमों की अोर से 40 करोड़ रुपए से अधिक राशि का योगदान किया गया। बिहार राज्य पुल निर्माण निगम ने मुख्यमंत्री राहत कोष में २० करोड़ रुपए की राशि दी।
बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड ने 5.27 करोड़, बिहार राज्य शैक्षणिक अाधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड ने 3 करोड़, बिहार पुलिस भवन निर्माण निम लिमटेड ने 2.5 करोड़, बिहार राज्य मेडिकल सरिवसेज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कारपोरेशन लिमिटेड ने 10 करोड़ का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लए सौंपा। वहीं भारतीय प्रशासनिक सेवा संघ की राज्य इकाई की अोर से 5 लाख रुपए का योगदान मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए किया गया। 
बता दें कि 22 मार्च  की दोपहर में कतर से आए युवक की पटना AIIMS में मौत के बाद आई कोरोना की पॉजिटिव रिपोर्ट से हड़कंप मच गया और इसके बाद पूरे राज्य को 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है। इसके बाद बिहार सरकार की तरफ से जरूरतमंदों के लिए कई तरह के राहत पैकेज की भी घोषणा की गई है। इन सबके बीच सोमवार को मुख्यमंत्री राहत कोष (Chief Minister Relief Fund) में एक दिन में 40 करोड़ 82 लाख रुपये जमा की गई है।
सीएम राहत कोष में करोड़ों की मदद, बिहार मेडिकल सर्विसेज एण्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर निगम लिमिटेड ने 10 करोड़, भारतीय प्रशासनिक सेवा संघ बिहार शाखा की तरफ और 5 लाख रूपए का चेक जमा किया।
-सीएम राहत कोष में करोड़ों की मदद, बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम लिमिटेड ने ढ़ाई करोड़ रूपये, राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड ने 20 करोड़ रूपये का चेक जमा किया
-सीएम राहत कोष में करोड़ों की मदद, बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड ने तीन करोड़ रूपये का चेक जमा किया
सरकारी विभागों के साथ ही सामाजिक स्तर पर भी अब पहल होने लगी है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कांग्रेस नेता सदानंद सिंह ने भी अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया है और तेजस्वी ने भी अपना बंगला आइसोलेशन वार्ड में देने की बात कही है।
Share To:

Post A Comment: