बिहार के बेगूसराय जिले में दो संदिग्धों की मौ’त के बाद पूरे जिले में दहशत का माहौल है। घरवाले श’व को छोड़कर फ’रार हो गए हैं और दोनों श’व अभी भी घर में रखे हुए हैं। कोई श’व को उठाने के लिए तैयार नहीं है। तीन दिन पहले ही इन दोनों मरीजों से एक की जांच के लिए  ब्ल’ड सैंपल भेजा गया था, जो अबतक नहीं आया था कि वो पॉजिटिव था या निगेटिव। उसके बाद उस म’रीज को घर में ही क्वारंटाइन के लिए कहा गया था, जिसके बाद उसकी मौ’त हो गई। म’रीज बछवाड़ा प्रखंड का रहनेवाला था।
वहीं दूसरे मा’मले में एक महिला मरीज का कल रात में ब्लड सैंपल लिया गया है। पहले केवल उसे आइसोलेशन की सलाह दी गयी थी। इसके बाद उसकी मौत हो गई और उसका भी श’व गांव में पड़ा हुआ है। परिवार से लेकर गांव वाले तक शव से दूर हैं। स्थानीय चौकीदार को अब उसका अंतिम संस्कार कराने का निर्देश दिया गया है।
बता दें कि महिला बेगूसराया जिले के साहेबपुरकमाल के सनहा उत्तर पंचायत की वार्ड 5 की निवासी थी जिसकी सदर अस्पताल में  मौ’त हो गई है। उसे गुरुवार को ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से बेगूसराय सदर अस्पताल रेफर किया गया था। सीओ जयकृष्ण प्रसाद के अनुसार मृत महिला पूर्व से ही डायबेटिक एवं ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रस्त थी। लोगों ने बताया कि सन्देह के आधार पर उसके परिवार के सदस्यों की जांच चल रही है। श’व को सदर अस्पताल से सीधे मुंगेर राज घाट एंबुलेंस से भेजा गया है
बताया जा रहा है कि महिला 19 मार्च को ही दिल्ली से आई थी। चिकित्सा पदाधिकारी राकेश कुमार के अनुसार सदर अस्पताल में सनहा उत्तर पंचायत की महिला 61 की मौ’त मामले में मृ’तक का सैंपल जांच के लिए पटना भेजा गया है। वर्तमान में उसके परिजनों को होम क्वारंटाइन में रखा गया है। पदाधिकारी ने कहा है कि वैसे इस केस को हमलोग कोरोना वायरस से संक्रमित मान कर अगली सतर्कता बरत रहे हैं।रिपोर्ट आने के बाद परिजनों के सैंपल जांच के लिए भेजे जाएंगे।महिला का श’व भी कल रात से सदर अस्पताल में पड़ा हुआ है। परिजन उसे भी हाथ नहीं लगा रहें। सुबह अस्पताल कर्मी शव लेकर मुंगेर घाट लेकर गए हुए हैं।
Share To:

Post A Comment: