माे. सलाउद्दीन (दूल्हा) । 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के कारण शादी की तय तिथि से एक दिन पहले ही दूल्हा बारात लेकर पहुंच गया। रात 9 बजे के बाद निकाह हुआ और देर रात में ही दुल्हन काे भी विदा कर दिया गया। इस तरह महज 4 घंटे में निकाह से लेकर विदाई तक की रस्म निभा दी गई। चैनपुर बंगरा निवासी किसान माे. कमाल ने बताया कि रविवार 22 मार्च काे शादी हाेनी तय थी। कार्ड भी बंट गया था।
इस बीच शुक्रवार रात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की घाेषणा की। जिस तेजी से काेराेना फैल रहा है, इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री की यह घाेषणा अच्छी पहल दिखी। इसी बीच लड़का पक्ष के लाेगाें का काॅल आया। चंदवारा निवासी समधी माे. निजामुद्दीन ने शादी की तैयारी के बारे में पूछा। पंडाल आदि का निर्माण हाे चुका था। लाइटिंग व साज-सज्जा हाेनी थी। कहा-हमें जनता कर्फ्यू का समर्थन करना चाहिए। इसके बाद रेडिमेड कपड़ा काराेबारी माे. सलाउद्दीन (दूल्हा) बारात लेकर माे. कमाल के दरवाजे पर पहुंचे। पहले 150 बाराती पहुंचने वाले थे लेकिन 50 ही पहुंचे। 
Share To:

Post A Comment: