कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश के अलग-अलग राज्यों में लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. केंद्र और राज्य सरकार कई तरह की कार्रवाई कर रही हैं ताकि ये महामारी और न फैले. इसी बीच इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली को नया और सस्ता कोरोना वायरस का टेस्ट किट बनाने में सफलता मिल गई है.
सूत्रों के मुताबिक, आईआईटी दिल्ली ने कोविड-19 वायरस का पता लगाने वाली किट तैयार कर ली है. जल्द ही इसका क्लीनिकल परीक्षण किया जा सकता है. नए टेस्ट किट से कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण का पता जल्दी लगाया जा सकेगा और खर्च भी कम आएगा.
फिलहाल निजी लैब में कोरोना वायरस टेस्ट की कीमत करीब ₹4500 रुपये सरकार द्वारा तय की गई है. लेकिन आईआईटी दिल्ली के बनाए गए नए टेस्ट किट बाजार भाव से बेहद कम में मिल सकते हैं.
टेस्ट किट तैयार करने वाली टीम से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, मौजूदा किट इसलिए महंगी है क्योंकि उसमें जिस प्रक्रिया और संसाधन का इस्तेमाल किया जाता है उसे तकनीकी भाषा में 'प्रोब' कहते है. आईआईटी दिल्ली की टीम ऐसी किट बना रही है जिसमें प्रोब का इस्तेमाल बेहद कम है, जिससे लागत घटाई जा सके.
नए किट का सफल परीक्षण प्रयोगशाला में किया जा चुका है, लेकिन बड़े स्तर पर इसका प्रयोग होना बाकी है. इस किट को सस्ता और त्वरित बनाने के लिए आईआईटी दिल्ली ने राइबोज न्यूक्लिक एसिड यानी आरएनए को डीएनए में तब्दील करने के बाद, ईसीआर के जरिए वायरस को पहचानने की तकनीक डेवलप की है.
फिलहाल इस टेस्ट कीट के क्लीनिकल ट्रायल के लिए एनआईबी (National Institute of Biologicals) पुणे से मंजूरी का इंतजार किया जा रहा है. आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है.
आईआईटी दिल्ली के सूत्रों के मुताबिक जैसे ही एनआईबी पुणे की मंजूरी मिलती है, इस किट का बड़े स्तर पर परीक्षण किया जाएगा और फिर इस किट को तैयार करके बाजार में उतारा जाएगा.
एनआईबी पुणे से मंजूरी मिलने के बाद हो सकता है कि आईआईटी दिल्ली की ओर से इसकी औपचारिक घोषणा की जाए. ऐसे में देश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच ये एक अच्छी खबर हो सकती है.
Share To:

Post A Comment: