मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मुख्यमंत्री कमलनाथ को फिलहाल राहत मिल गई है। विधानसभा सत्र 26 मार्च तक टाल दिया गया है। बता दें कि पिछले दो सप्ताह से प्रदेश में राजनीतिक उथल- पुथल जारी है।इससे पहले राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) ने बजट (Budget) अभिभाषण के तत्काल बाद ही फ्लोर टेस्ट कराने का निर्देश मुख्यमंत्री को दिया है।
इस बीच विधानसभा अध्यक्ष एन पी प्रजापति (N. P. Prajapati) ने सिंधिया गुट के बागी 22 विधायकों में से छह का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। इस बीच कांग्रेस और भाजपा के आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।
Live Updates:
विधानसभा में बोले राज्यपाल- संवैधानिक मूल्यों का पालन हो
CM कमलनाथ विधायकों के साथ विधानसभा में मौजूद, राज्यपाल का अभिभाषण खत्म
विधायकों के साथ विधानसभा पहुंचे CM कमलनाथ, राज्यपाल का अभिभाषण जारी
अपने विधायकों के साथ विधानसभा पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ
BJP विधायक गोपाल भार्गव ने कहा- नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें कमलनाथ
विधानसभा के लिए रवाना हुए BJP विधायक, पूर्व CM शिवराज सिंह चौहान भी साथ में

सरकार ने सदन का विश्वास खोया
मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) को भेजे एक पत्र में कांग्रेस के 22 विधायकों के इस्तीफे और उनमें से छह के इस्तीफे मंजूर होने का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार ने सदन का विश्वास खो दिया है और अल्पमत में है। उन्होंने लिखा कि संवैधानिक रूप से अनिवार्य एवं प्रजातांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए आवश्यक हो गया है कि राज्यपाल अभिभाषण के तत्काल बाद सरकार विधानसभा में विश्वासमत हासिल करें। राज्यपाल ने यह भी स्पष्ट किया कि विश्वासमत मतविभाजन के आधार पर बटन दबाकर ही होगा और अन्य किसी तरीके से नहीं। साथ ही संपूर्ण प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराने और कार्यवाही बीच में स्थगित, विलंबित या निलंबित नहीं करने का निर्देश दिया है।
शिवराज सिंह ने बीजेपी विधायकों से की मुलाकात
इधर, शक्ति परीक्षण को लेकर सरकार और विपक्ष अपनी रणनीतियां बनाने में जुटे हैं। रविवार को दिल्ली (Delhi) में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर के आवास पर बीजेपी नेताओं की बैठक हुई। इसमें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज चौहान (Shivraj Singh Chouhan) और नए-नए भाजपाई बने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ ही कई शीर्ष नेता शामिल हुए। इसके बाद शिवराज सिंह मानेसर के आईटीसी रिसॉर्ट में ठहरे बीजेपी विधायकों से मुलाकात की। देर रात ये विधायक मानेसर से निकलकर भोपाल पहुंच गए। वहीं सिंधिया खेमे के इस्तीफा दे चुके कांग्रेस के 22 बागी विधायक आज सुबह बेंगलुरु से भोपाल पहुंचे।
Share To:

Post A Comment: