MTV NEWS कई मांगों को लेकर नियोजित शिक्षक हड़काल पर चल रहे हैं. इस दौरान सरकार ने उनका होली पर वेतन रोक दिया है. जिससे भड़के शिक्षकों ने सीएम नीतीश कुमार, शिक्षा मंत्री और विभाग के सचिव का पुतला फूंक कर विरोध जताया है. 
होलिका दहन से पहले पुतला जलाया

बिहटा प्रखंड में होलिका दहन के जगह पर नियोजित शिक्षकों ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा और शिक्षा सचिव आरके महाजन का पुतला दहन कर प्रदर्शन किया. राघोपुर बीआरसी के समक्ष सैकड़ों की संख्या में उपस्थित शिक्षकों ने सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ में नारेबाजी करते हुए अपने गुस्से का इजहार किया और अपनी मांगों के समर्थन में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जमे रहने का एलान भी किया.
वेतन रोके जाने से दुखी
बिहार सरकार के निर्देश पर जनवरी महीने का भी वेतन रोकने जाने पर शिक्षकों ने दुख जताया और कड़ी निंदा किया, कहा कि हड़ताल 17 फरवरी से है. नो वर्क नो पे 17 फरवरी से लागू होता. फिर भी जनवरी महीने का भी वेतन सरकार ने रोक दिया. सरकार ने जनवरी महीने का वेतन रोक करके अपनी क्रूर मानसिकता और संवेदनहीनता का परिचय दिया है. विरोध में आक्रोशित शिक्षकों ने होली नहीं मनाने का भी निर्णय लिया है. बिहार के साढ़े 40 हजार शिक्षक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है और सरकार के द्वारा उनको जनवरी और फरवरी का ही वेतन रोक दिया गया है. जिससे शिक्षकों में आक्रोश है. 

Share To:

Post A Comment: