बिहार बेगूसराय
▪बछवाड़ा से शुरु होकर बेगूसराय जिला मुख्यालय तक पहुंची शिक्षक संघर्ष यात्रा
▪सहायक शिक्षक का दर्जा हासिल करने तक जारी रहेगी शिक्षक हड़ताल
दमन से नही दबेगा शिक्षक आंदोलन - मार्कंडेय पाठक
▪निलंबन बर्खास्तगी और फर्जी मुकदमों की सरकार के खिलाफ बिहार के तमाम नियोजित शिक्षक गोलबंद 

नियमित शिक्षकों की भांति सहायक शिक्षक व राज्यकर्मी का दर्जा और समान वेतन - समान सेवाशर्त की मांग पर जिले के नियोजित शिक्षकों का आंदोलन लागातार तेज होता दिख रहा है। जहां एक तरफ वरीय अधिकारियों द्वारा शिक्षकों पर दमन की कार्रवाई तेज हुई है वहीं दूसरी तरफ शिक्षकों की हड़ताल भी लगातार तेज होती जा रही है। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर बेगूसराय में शिक्षकों ने इंटर परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य का भी बहिष्कार किया है । इधर जिला शिक्षा पदाधिकारी बेगूसराय ने उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन में नही शामिल होनेवाले शिक्षकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है । सरकार और प्रशासनिक पदाधिकारी के द्वारा शिक्षकों के उपर दमनात्मक कार्रवाई के खिलाफ शिक्षकों में व्यापक आक्रोश है । इसी क्रम में आज बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के अध्यक्ष मंडल के सदस्य और टीएसयुएनएसएस गोपगुट के प्रदेश अध्यक्ष मार्कंडेय पाठक, गोपगुट के प्रदेश सचिव अमित कुमार व नाजिर हुसैन, प्रदेश प्रवक्ता अश्विनी पांडेय  शिक्षक संघर्ष यात्रा में आज बेगूसराय पहुंचे । शिक्षक संघर्ष यात्रा बेगूसराय के बछवाड़ा से प्रारंभ होकर तेघड़ा बरौनी होते हुए बेगूसराय प्रखंड मुख्यालय पहुंची । तेघरा,भगवानपुर पीपरा चौक, बरौनी होते हुए संघर्षयात्रा जीरो माईल तक पहुंची जहाँ राष्ट्रकवि दिनकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए शिक्षक आंदोलन को तेज करने का संकल्प लिया गया ।
बछवाड़ा और बेगूसराय बीआरसी में शिक्षकों की सभा को संबोधित करते हुए मार्कंडेय पाठक ने कहा कि शिक्षकों के विरुद्ध दुष्प्रचार में जुटी सरकार और उसकी प्रशासनिक मशीनरी दमन का रास्ता अपना रही है । धमकी भरे विभागीय आदेशों और बर्खास्तगी की तानाशाह कार्रवाई जारी है । आंदोलनरत शिक्षकों पर मुकदमा की धमकी देने में जुटी नीतीश सरकार का आत्मविश्वास लड़खड़ा चुका है । शिक्षण के अलावे निर्वाचन आपदा जनगणना समेत बत्तीस तरह का कार्य लेने समय शिक्षक योग्य हो जाते हैं और उचित वेतन की मांग सरकार को अनुचित लगती है ।
नियमित शिक्षकों की भांति सहायक शिक्षक व राज्यकर्मी का दर्जा और समान वेतन - समान सेवाशर्त की मांग पर शिक्षकों की हड़ताल एकजूटता व मजबूती के साथ जारी रहेगी ।
प्रदेश प्रवक्ता अश्विनी पांडेय सचिव अमित कुमार व नाजिर हुसैन ने कहा कि शिक्षक अपने लोकतांत्रिक आंदोलनों के जरिये जनता की कचहरी में हैं और यहां उन्हें जरूर न्याय मिलेगा । बिहार के शिक्षकों ने शोषण और भेदभाव के जंजीरों को तोड़ने का ऐलान कर दिया है । शिक्षा अधिकार कानून की धज्जियां उड़ा रही नीतीश सरकार का शिक्षक व शिक्षाविरोधी चेहरा बेनकाब हो चुका है । नियोजित शिक्षकों को बंधुआ मजदूर समझनेवाले नीतीश सरकार की अब खैर नही । निलंबन बर्खास्तगी दमन मुकदमों के खिलाफ शिक्षक डटे रहेंगे । बेगूसराय बीआरसी में शिक्षक संघर्ष यात्रा का स्वागत वरिष्ठ शिक्षक नेता विनय कुमार, अरविंद कुमार पासवान, रामनाथ जी गणेश कुमार मौन, शंकर कुमार हरीतिमा कुमारी, अलका कुमारी किरण कुमारी, इस्मत अली, लालबाबु ठाकुर ने किया ।
बछवाड़ा से लेकर बेगूसराय तक शिक्षक संघर्ष यात्रा कार्यक्रम की अध्यक्षता टीइटी एसटीइटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिला अध्यक्ष मुकेश कुमार मिश्रा ने किया जबकि सभाओं का संचालन जिला महासचिव ज्ञानप्रकाश और जिला संयोजक सरोज कुमार सिंह कर रहे थे । यात्रा के दौरान जिला उपाध्यक्ष रामकरण चौरसिया, नितेश रंजन, कार्यालय सचिव धर्मांशु झा, मीडिया प्रभारी रौशन यादव जिला प्रवक्ता राधेश्याम कुमार सिंह, रंधीर सिंह ,कोषाध्यक्ष रवि कुमार, जिला सचिव सचिन्द्र सिन्हा, सुमित कुमार सिंह, बेगूसराय प्रखंड अध्यक्ष अभिषेक रंजन, प्रदेश मीडिया प्रभारी राहुल विकास, नीरज नयन, विक्रांत कुमार, पप्पु कुमार, अली रजा तनवीर हसन, आदिल सरवर, अमित देवर्षि, मुकेंद्र कुमार, नीतिन प्रकाश,मटिहानी अध्यक्ष अमर शंकर जयशंकर, कौशल कुमार,त्रिपुरारी कुमार, गौरव कुमार, रामकुमार, अजीत कुमार, बलिया अध्यक्ष सुदर्शन यदुवंशी भगवानपुर अध्यक्ष धर्मेंद्र पासवान, रामकुमार शर्मा, मृत्युंजय पाठक, त्रिभुवन सिन्हा, बाबुल सहनी, सुधीर कुमार, युसुफ आजाद, अजय साह, मनोज कुमार, अंजनी इश्वर, संतोष कुमार, सुलेंद्र कुमार, मो. इरफान, रविंद्र कुमार, राजेश कुमार समेत सैकड़ों शिक्षक शामिल थे ।
रिपोर्ट मोहम्मद नबी आलम

Share To:

Post A Comment: