पटना:- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना सक्रंमण के लिये उठाये गये कदमो के संबंध मे मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ गहन समीक्षा की। मुख्य सचिव ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण तथा लाॅकडाउन की स्थिति से निपटने हेतु राज्य सरकार द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिकार अधिनियम अन्तर्गत आच्छादित सभी राषन कार्डधारियां को कोरोना सहायता के रूप मे एक हजार रूपये प्रति परिवार की दर से सीधे बैंक खाते मे डी0बी0टी0 के माध्यम से भुगतान की योजना के तहत लाभ दिया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने निर्देष दिया कि राषि अंतरित करने की गति बढ़ायी जाय और बचे हुये लाभुकां ेको कम स ेकम समय मे राषि हस्तांतरित करने की कार्रवाई सुनिष्चित की जाय। उन्होनंे कहा कि जिन राषन कार्डधारियों की आधार सीडिंग नहीं हो पायी है, उनकी सीडिंग शीघ्र कराकर एक हजार रूपये का भुगतान करें। मुख्यमंत्री ने कोरोना संिदग्धो ंकी टेस्टिंग की प्रगति की भी समीक्षा की और निर्देष दिया कि टेस्टिंग की क्षमता और बढ़ायी जाय ताकि अधिक से अधिक संदिग्ध लोगो ंकी जाॅच हो सके। जो राज्य मे बाहर स ेआये हैं, उनकी प्राथमिकता के आधार पर टेस्टिंग की जाय।
क्वारंटाइन मे रखे गये लोगो की निगरानी करते रहे और वहाॅ की व्यवस्था ठीक रखें ताकि उन्हें किसी प्रकार की कोई कठिनाई न हो। लोगो का टेªसिंग करने की प्रक्रिया मे भी तेजी लायी जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना सक्रं मण से प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना नितांत आवश्यक है। लोगो को घबराने होने की जरूरत नहीं है। लोग सोशल डिस्टेंिसगं का पालन करते रहे। अपने घरों के अंदर रहे, अनावष्यक रूप से बाहर न निकले। सरकार कोरोना पीड़ितो की हरसभ्ंाव सहायता के लिये प्रतिबद्ध है।
Share To:

Post A Comment: