देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़े हैं और मरीजों की संख्या 25 हजार के करीब पहुंच गई है.
नई दिल्ली: देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़े हैं और मरीजों की संख्या 25 हजार के करीब पहुंच गई है. देश में अब कुल 24942 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. अब तक 5210 लोग ठीक हुए हैं और 779 लोगों की जान इस महामारी से गई है. पिछले 24 घंटे में 1490 नए मामले सामने आए हैं और 56 मौत कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हुई है. 18953 लोगों का इलाज चल रहा है. 5210 ठीक हो चुके हैं.
राहत की बात यह है कि देश में कोविड-19 मामलों की डबलिंग रेट फिलहाल 9.1 दिन हो गई है. यानी अब 9.1 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं. वहीं शुक्रवार सुबह आठ बजे से शनिवार सुबह आठ बजे तक , देश में नये मामलों की ग्रोथ रेट छह प्रतिशत दर्ज की गई है, जो देश के 100 मामलों का आंकड़ा पार करने के बाद से प्रतिदिन के आधार पर सबसे कम है.
पीपीई किट का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू
कोविड-19 पर उच्चाधिकार प्राप्त मंत्रिसमूह (जीओएम) की 13 वीं बैठक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की अध्यक्षता में शनिवार को हुई. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि देश में ही पीपीई किट से लेकर वेंटिलेटर तक हर दिन तैयार होने लगे हैं और बड़ी तादाद में सरकार को मिलने भी लगे हैं. कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में देशभर में एक करोड़ 24 लाख लोग लगे हुए हैं. इसमें स्वयंसेवी वर्कर से लेकर देश के तमाम अलग-अलग संगठनों के लोग शामिल हैं जो किसी न किसी रूप से इस मुहिम में जुड़े हुए हैं. एक लाख से ज्यादा पीपीई हर दिन देश में तैयार होने लगे हैं. देश में 104  विनिर्माता पीपीई का उत्पादन कर रहे हैं.
ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक में देशभर में टेस्टिंग रणनीति और टेस्ट किट की उपलब्धता की समीक्षा की गई. देशभर में हॉटस्पॉट और क्लस्टर्स के बारे में भी जीओएम को बताया गया. इस बात की समीक्षा की गई कि 92 हजार स्वयंसेवी संगठन और नागरिक संगठन कोरोना की लड़ाई में जुटे है. माइग्रेंट वर्क्सर्स को खाना मुहैया कराने में जुटे हैं. देश मे 1 लाख पीपीई और एन-95 मास्क हो रहा है तैयार, 104 घरेलू कंपनियों में हो रहा है प्रोडक्शन. 9 कम्पनियों को 59 हजार वेन्टीलेटर्स तैयार करने के लिए कहा गया है।
Share To:

Post A Comment: