पटना. कोरोनावायरस संक्रमण और लॉक डाउन की वजह से परेशानी में घिरे बिहार के युवाओं को सरकार ने बड़ी राहत दी है। राज्य में 33916 शिक्षकों की बहाली करने का फैसला लिया गया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई कैबिनेट की बैठक में शिक्षा विभाग के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई। शिक्षकों की बहाली उच्च माध्यमिक विद्यालयविहीन पंचायतों में खोले जा रहे ऐसे 2950 नए स्कूलों में की जाएगी। यह बहाली पहले से हो रही शिक्षकों की नियुक्ति के अतिरिक्त होगी। अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने बताया कि उच्च माध्यमिक विद्यालयविहीन पंचायतों के लिए 32 हजार 916 पद स्वीकृत किए गए हैं। इन पर नियोजन इकाइयों के माध्यम से बहाली करने की मंजूरी मिल गई है। इसके अलावा उच्च माध्यमिक स्तर पर 1000 कंप्यूटर शिक्षकों की बहाली की जाएगी। 
बहाली के लिए योग्यता
  •  शिक्षकों के लिए बीएड के साथ संबंधित विषय में एसटीईटी उत्तीर्ण होना आवश्यक होगा
  •  कंप्यूटर शिक्षक के उम्मीदवारों का पीजी डिप्लोमा या एमसीए सहित कंप्यूटर से जुड़ी शैक्षणिक योग्यता के साथ एसटीईटी उत्तीर्ण होना चाहिए। कंप्यूटर शिक्षक पद पर बहाली के लिए बीएड की अनिवार्यता नहीं रखी गई है। 
लॉकडाउन में आर्थिक मदद पर मुहर
  •  राशन कार्डधारियों को लॉक डाउन में सरकार द्वारा दी जा रही एक-एक हजार रुपए की मदद पर मुहर।
  •  राशन कार्ड के रद्द आवेदनों की फिर जांच कर लाभुकों को राशन कार्ड उपलब्ध कराने का मामला आरटीपीएस में शामिल हुआ।
  •  रफीगंज में पेयजल निश्चय योजना के तहत 38.63 करोड़ रुपए मंजूर
  •  अटल नवीकरण व शहरी मिशन के लिए 130 करोड़ रुपए 
  •  सारण में बली टोला से संबलपुर पछियारी टोला तक कटाव निरोधक कार्य के लिए 45 करोड़ रुपए
Share To:

Post A Comment: