पटना. पटना नगर निगम के कर्मचारियों का आक्रोश भड़क गया है। सरकार की वादाखिलाफी को देखते हुए कर्मचारियों ने आंदोलन का रुख अपनाया है। कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच सरकार के दैनिक कर्मचारियों की सेवा लेने संबंधी आदेश को दो माह आगे बढ़ाए जाने संबंधी पत्र ने माहौल को गरमा दिया है। सरकार ने दैनिक कर्मचारियों की सेवा किसी भी स्थिति में खत्म नहीं करने की बात कही है। दूसरी तरफ, पत्र जारी कर सरकार ने दैनिक कर्मचारियों की सेवा दो माह बढ़ाने की बात कही है।
नगर निगम कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति के अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश सिंह ने कहा कि इस वैश्विक संकट एंव कोरोना महामारी की स्थिति में जहां एक तरफ निगम के दैनिक मजदूर अपना और अपने परिवार के जीवन को खतरे में डालकर सड़कों, मुहल्लों, गलियों की सफाई और घरों से कचरा उठाने में लगे हुए हैं। इन मजदूरों द्वारा बिलिचिंग पाउडर व सैटेनाईजर का छिड़काव किया जा रहा है।
Share To:

Post A Comment: