गया: गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एक बड़ी खबर सामने आ रही है, जहाँ मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में इलाज के बाद घर लौटने के 3 दिन बाद बांकेबाजार के रौशनगंज की गर्भवती महिला की मौ’त में दु’ष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। मृतिका की सास फुलवा देवी ने मेडिकल कॉलेज के एक स्वास्थ्यकर्मी पर दु’ष्कर्म का आरो’प लगाया है। इसमें आरो’पित स्वास्थ्यकर्मी के खिला’फ बुधवार की देर शाम रौशनगंज थाने में मृ’तिका की सास फुलवा देवी ने अपना बयान दर्ज कराया है। साथ ही इसी आधार पर मेडिकल थाना में प्रा’थमिकी दर्ज की गई।
मामला प्रकाश में आने के बाद मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ विजय कृष्ण प्रसाद ने मामले की जांच के लिए टीम गठित की है। मालूम हो कि बांकेबाजार प्रखंड अंतर्गत रौशनगंज की पूनम देवी 24 साल, नामक महिला लुधियाना से गत 25 मार्च को अपने घर रौशनगंज लौटी थी, वह गर्भवती थी। जिसे मगध मेडिकल कॉलेज के इमर’जेंसी वार्ड में 27 मार्च को भर्ती कराया गया था। फिर 2 दिनों के बाद महिला को को’रोना के वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। जहां महिला का को’रोना टेस्ट भी कराया गया। रिपोर्ट नेगे’टिव आई थी। इसी बीच महिला 2 अप्रैल को अपने घर रौशनगंज लौट आई थी और अचानक सोमवार सुबह महिला की मौ’त हो गई।
मृति’का की सास फुलवा देवी के अनुसार, कोरोना वार्ड में रहने के दौरान बहू के साथ वहां के माथे पर टिका लगाए एक स्वास्थ्यकर्मी के द्वारा लगातार दो दिनों तक दुष्क’र्म किया गया। दुष्क’र्म की वजह से उसे ब्ली’डिंग होने लगी और उसका पेट में पल रहा बच्चा ख’राब हो गया। स्वास्थ्यकर्मी के द्वारा किए गए गं’दी हरकत की आपबी’ती मेरी बहू बताई। इस घटना का जक्रि कोरो’ना वार्ड के गेटमैन को, से किया तो वह घर का इज्जत बचा’ने का हवा’ला दिया। बहू लौटने के बाद काफी ड’री स’हमी रह रही थी।
मेडिकल अस्पताल में भर्ती के दौरान माथे पर टीका लगाए स्वास्थ्यकर्मी के द्वारा किये गए गल’त व्यवहार और यौना’चार की चर्चा घर में अक्सर कर रही थी। उन्होंने कहा कि पेट में पल रहे बच्चे और बहू की मौ’त का जम्मिेवार अस्पताल का स्वास्थ्यकर्मी है, उसी की वजह से मेरी बहू की जिंदगी चली गई। यदि अस्पताल के कोरोना वार्ड में नहीं भेजा जाता तो  मेरी बहू के साथ ऐसी कोई हरकत नहीं होती और जा’न बच जाती।
अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ विजय कृष्ण प्रसाद ने बताया कि बांकेबाजार के रौशनगंज की महिला के मौ’त के मामले में एक जांच टीम गठित की गई है। जिसके द्वारा जांच प्रतिवेदन उन्हें सौंप दिया गया है। वह जांच प्रतिवेदन वरीय अधिकारी को सौंपा जाएगा। फिलहाल घटना की जानकारी जुटाने के लिए अनुसंधान की जा रही है। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है . हैरा’नी की बात यह है कि अभी अक किसी की गिरफ्ता’री नहीं हुयी है 
Share To:

Post A Comment: