PATNA : कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से एक तरफ जहां पूरी दुनिया परेशान है. वहीं दूसरी ओर इतने गंभीर विषय पर बिहार सरकार की लापरवाही लगातार सामने आ रही है. फर्स्ट बिहार झारखंड की ओर से लगातार सरकार की ओर से जारी आंकड़े पर सवाल उठाये जा रहे हैं. एक बार फिर से बिहार के स्वास्थ्य महकमे की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं. फर्स्ट बिहार की टीम ने एक बार फिर से पाया कि सरकार ने देर शाम जो आंकड़ा जारी किया है. उसमें बड़ी लापरवाही देखी गई है. सरकार की लापरवाही तो इसबार कोरोना से मरे मरीज को भी जिंदा साबित कर दी है. जी हां, ऐसा हम नहीं कह रहे हैं. बिहार सरकार के आंकड़े तो जनाब यही बता रहे हैं.
मृतक को बताया ठीक
बिहार स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी होने वाले नियमित आंकड़े के मुताबिक मुंगेर वाले कोरोना पीड़ित की मौत को भी ठीक होने की बात लिखी गई है. बिहार सरकार की ओर से देर शाम यह डाटा दिया गया कि सूबे में 22 मरीज ठीक हो गए हैं. जिसमें कोरोना से मरने वाले मरीज को भी शामिल कर लिया गया. MTV न्यूज़ की टीम ने देखा कि सरकार की ओर से जारी आंकड़े में मृत मरीज को भी स्वस्थ बताया गया है.
क्या है पूरा मामला
दरसअल, स्वास्थ विभाग ने जो आंकड़ा जारी किया है. उसमें 22 मरीजों के ठीक होने की बात स्वीकारी गई है. जिसमें कोरोना के कारण जिस मुंगेर के रहने वाले व्यक्ति की मौत हुई थी. उसे भी जिंदा बताया गया है. उसे स्वस्थ बताते हुए ठीक होने वालों मरीजों की सूची में शामिल किया गया है. आप खुद ही देख लीजिये...


बिहार के 26 मरीज हुए ठीक
उधर दूसरी ओर स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने ट्वीट कर जानकारी दी कि बिहार में 4 और कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने इस जानलेवा बीमारी को मात दे दी है. कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार सामने आने के बाद बिहार के लोगों के लिए यह राहत की एक बड़ी खबर है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक 4 और मरीज स्वस्थ हो गए हैं.
COVID-19 Updates, Bihar
12.04.2020 तक कुल 6676 सैम्पल की जांच हुई है। आज 3 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। अभी तक कुल 64 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। @sanjayjavin
View image on TwitterView image on Twitter
See Bihar Health Dept's other Tweets


बिहार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि 4 और मरीज स्वस्थ हो गए हैं. इन 4 मरीजों के ठीक होने के साथ ही सूबे में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 26 हो गई है. बिहार में अब तक टोटल 64 मामले सामने आये हैं. जिसमें से एक व्यक्ति की मौत हुई है. 26 मरीजों के ठीक होने के बाद अब सूबे में 37 केस एक्टिव हैं.

उधर दूसरी ओर देश में कोरोना वायरस के मामले थम नहीं रहे हैं. लॉकडाउन के बावजूद संक्रमित मरीजों की संख्या में दिन पर दिन बढ़ोत्तरी हो रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 8447 हो गई है. वहीं अबतक 273 लोगों की मौत हुई है. देश में अब भी 7409 एक्टिव केसेज हैं तो वहीं 764 लोग कोरोना को मात देकर अब तक ठीक हुए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया, 9 अप्रैल के आंकड़ों के अनुसार, अगर हमें 1100 बेड की आवश्यकता थी, तो हमारे पास 85,000 बेड थे. आज जब हमें 1671 बेड की आवश्यकता है, तब हमारे पास 601 कोविड समर्पित अस्पतालों में 1 लाख 5 हज़ार बेड हैं. गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव, पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया, गृह मंत्रालय ने आज राज्यों और केंद्र सरकारों को स्पष्ट किया है कि इंटर स्टेट या इंट्रा स्टेट कार्गो की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है. चाहे आवश्यक वस्तु या किसी भी तरह का सामान ट्रांसपोर्ट हो रहा हो.


भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR)  के डॉ मनोज मुहरेकर ने बताया कि आज तक 1,86,906 टेस्ट किए गए हैं जिसमें से 7953 पॉजिटिव पाए गए हैं, पिछले 5 दिनों में 15,747 प्रति दिन टेस्ट किए गए हैं.
Share To:

Post A Comment: