बिहार के लिए यह साल सामान्य नहीं है, वहां के लिए यह चुनावी साल है. बिहार में विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं. कोरोना वायरस और उसकी वजह से लगाए गए लॉकडाउन के चलते राज्य में राजनीतिक गतिविधियां भले ही रुक गई हों लेकिन सोशल मीडिया पर राजनेता जुबानी हमलों से बाज नहीं आ रहे हैं. इसी क्रम में राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार पर सीधा निशाना साधा है.
तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिए बिहार की नीतीश सरकार पर आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाया है. दरअसल, तेजस्वी से पहले आरजेडी के आधिकारिक हैंडल से कुछ ऐसे मामले सामने लाए गए थे जिसमें लोगों ने सरकारी मदद ना मिलने की बात कही थी.
उसी बात को आगे बढ़ाते हुए तेजस्वी ने लिखा, "माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी, यह आर्थिक अनियमितता का गंभीर मामला है. जरूरतमंदों के खाते में नाममात्र की आर्थिक मदद ट्रांसफर भी नहीं हुई है लेकिन एसएमएस पहुंच गया है. कृपया जांच और आवश्यक कार्रवाई की जाए. महामारी के दौर में ऐसा आर्थिक अपराध करने वालों को कड़ी सजा दी जाए."
आरजेडी ने भी किया था ट्वीट
आरजेडी ने अपने ट्वीट में लिखा था, "बिहार के 95% गांवों तक कोई सरकारी मदद नहीं पहुंची है. अधिकांश निर्धन बिहारवासियों के एकाउंट में भी सरकारी दावे के उलट कोई आर्थिक मदद नहीं पहुंची है! वहीं एक बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है जिन्हें मैसेज तो आया पर पैसे क्रेडिट नहीं हुए! कोरोना राहत के नाम पर भी घोटाले/लीकेज शुरू?"
आरजेडी ने अपने ट्वीट में बिहार के कुछ ऐसे ही लोगों के मैसेज के स्क्रीनशॉट भी शेयर किए हैं जिन्होंने अकाउंट में पैसे ना आने की बात कही है. लोगों के मुताबिक उनके पास राहत राशि आने का मैसेज तो आ गया है लेकिन खाते में पैसे नहीं पहुंचे हैं.

Share To:

Post A Comment: