कोरोना से लड़ने में रेलमंडल भी अपी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। बता दे की राँची रेलमंडल अपने पुरानी बोगियों को कोरोना से लड़ने के लिए तैयार कर रहा है । हटिया यार्ड में खड़ी 60 बोगियों को कोरोना से लड़ने के लिए अस्पताल का रूप दिया जा रहा है। जिसमें 1 बोगी में 8 आइसोलेशन बेड बनाने के काम में जुटे हैं 60 रेलकर्मी।
540 आइसोलेशन वार्ड होंगे तैयार
60 बोगियों को मोडिफाई कर 540 आइसोलेशन वार्ड तैयार किया जा रहा है। 10 दिनों में सारी बोगियों को बनाने का काम पूरा हो जाएगा। उसके बाद इन बोगियों को हटिया, राँची और मुरी स्टेशन पर रखा जाएगा। इसके अलावे और जहां इसकी जरूरत होगी जिसका निर्णय राज्य सरकार को लेना है। तो वहां बोगियों को शिफ्ट किया जाएगा। एक बोगी में नौ कमरे होंगे। उसमें नर्स स्टॉफ के लिए एक कमरे होंगे। बाकी 8 बेड्स कोरोना पीड़ितों के लिए होंगे। इस काम में रेलवे के 60 कर्मी हटिया यार्ड में दिन-रात बोगियों को अस्पताल का रूप देने में लगे हैं। बोगी में दो टॉयलेट की जगह एक टॉयलेट और दूसरे में नहाने का रूम बनाया जा रहा है।
Share To:

Post A Comment: