आवश्यक सेवाओं के अलावा अन्य दुकानों के बिहार में खोले जाने की अनुमति दिए जाने को लेकर राज्य सरकार एक विशेष प्लान पर काम कर रही है। सरकार ने तय किया है कि बाजार और दुकानें खोलने का निर्णय वह खुद नहीं लेनी। इसकी जिम्मेदारी पहले जिले में तैनात अधिकारियों पर होगी। जिलों से फीडबैक लिया जाएगा। जिलों से मिले फीडबैक के आधार के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने रविवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दुकानों के खोले जाने के केंद्र सरकार के आए निर्णय के आलोक में राज्य सरकार जिलों से फीडबैक ले रही है।
गौरतलब हो कि शनिवार को भी इसको लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में विस्तार से विचार-विमर्श हुआ। बैठक में यह बात सामने आई थी कि एक साथ सभी दुकानों को खोलने की अनुमति देना ठीक नहीं होगा। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि चरणवार ही दुकानों को खोलने की इजाजत दी जाएगी। हालांकि इस पर अभी अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है।
बिहार में कोरोना पीड़ितों की संख्या 274 हुई
बिहार के गोपालगंज में 9 और रोहतास में 6 सहित कुल 23 नए कोरोना पीड़ितों की रविवार को पहचान की गई। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि पूर्वी चंपारण में 4, जहानाबाद में 1, अरवल में 3, कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 274 हो गई। कुमार ने बताया कि गोपालगंज में 2 महिलाएं 50 और 60 वर्ष की एवं 2 पुरुष 19 और 60 वर्ष के कोरोना पॉजिटव पाए गए। ये मरीज गोपालगंज के सदर, फुलवारी और भोरे प्रखंड के निवासी है। गोपालगंज में ही 6 और नए मरीजों की पहचान की गई है। इनमें सभी पुरुष है और इनकी उम्र 30, 41, 45, 60 और 65 साल है।
उन्होंने बताया कि पूर्वी चंपारण में भी 4 कोरोना पॉजिटव मरीजों की पहचान की गई। ये सभी पुरुष है और इनकी उम्र 28, 32,50 और 54 वर्ष है। इनमें 3 मुंबई से बंजरिया इलाके में लौटे हैं और एक दिल्ली से अरेराज लौटकर आया है। जहानाबाद में 28 साल के युवक, अरवल में 20, 21 और 37 साल के युवक कोरोना पॉजिटव पाए गए। वहीं, रोहतास में 4 पुरुष 6, 17, 20 और 66 साल एवं दो महिलाएं 32 व 35 साल की कोरोना पॉजिटव पायी गयी है।
Share To:

Post A Comment: