जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने आम नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस को लेकर किसी को पैनिक होने की आवश्यकता नहीं हैं क्योंकि जिला प्रशासन संवेदनशील तरीके से इस वायरस के प्रभाव को सीमित करने का प्रयास कर रही है। हालांकि, आवश्यकता इस बात की है कि आमजन लॉकडाउन के आदेश का उल्लंघन नहीं करें।
बैंक/बाजार व अन्य दैनिक कार्यों में निश्चित तौर पर सोशल डिस्टेंशिंग का अनुपालन करें। आमजन सामान्य परिस्थितियों में भी मास्क के प्रयोग के साथ-साथ कोरोना वायरस से बचाव संबंधी उपायों को अपनाएं। उन्होंने कहा कि जन-सहयोग से ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सकता है इसलिए जरूरी है कि प्रत्येक व्यक्ति सतर्क रहें।
उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों की संख्या नौ हैं तथा इसमें से आठ संक्रमित व्यक्तियों का ईलाज निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत आइसोलेशन-कम-ट्रीटमेंट सेंटर में चल रहा है। साथ ही 29 व्यक्तियों को जिला मुख्यालय स्थित आइसोलेशन वार्ड/क्वारेन्टाइन सेंटर में आवासित कर उसके स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है।
इसके अतिरिक्त वर्तमान में 127 व्यक्ति होम क्वारेन्टाइन में रखा गया है। जबकि 41 स्कूल क्वारेन्टाइन सेंटर में 268 व्यक्ति को आवासित कर उसे नियमित तौर पर भोजन व स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि जिले से अब तक 1107 व्यक्तियों का सैंपल जांच हेतु पटना भेजे गए जिसमें 1040 व्यक्ति का जांच रिपोर्ट प्राप्त हुआ है। इनमें से 1031 व्यक्ति की जांच रिपोर्ट निगेटिव है जबकि 67 सैंपल का रिपोर्ट प्रतीक्षित है। कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की पहचान के लिए की जा रही डोर-टू-डोर सर्वे का पहला चरण पूर्ण होने के उपरांत सर्वे टीम “बी” द्वारा भी कार्य प्रारंभ कर दिया गया है तथा इसे भी शीघ्र ही संपन्न करा लिया जाएगा।
जिला पदाधिकारी ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरण की जाने वाली खाद्यान्न के तहत अप्रैल, 2020 के लिए अब तक 81.32 प्रतिशत खाद्यान्न का वितरण किया जा चुका है तथा शेष खाद्यान्नों का भी वितरण जारी है। साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत भी 05 किलोग्राम चावल प्रति यूनिट उपलब्ध कराया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने कहा कि राशन वितरण के संबंध में प्राप्त होने वाले शिकायतों के मद्देनजर अब तक 938 पीडीएस दुकानों की जांच की गई है जिसमें 56 जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं पर कार्रवाई हेतु संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को निदेशित किया गया है। इस क्रम में बरौनी व मटिहानी प्रखंड के तीन जन वितरण प्रणाली के विक्रेताओं का लाइसेंस भी रद्ध किया गया है।
जिला पदाधिकारी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि यदि किसी लाभुक को राशन वितरण संबंधी शिकायत हो तो वे जिलास्तरीय नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नं. – 06243-222835/8544426206, अनुमंडल सदर, बेगूसराय हेतु दूरभाष नं. – 06243-223000/ 9473191414, अनुमंडल बखरी हेतु दूरभाष नं. – 9304394589/9473191418, अनुमंडल बलिया हेतु दूरभाष नं.-06243-262572/ 9508270133/ 9473191416, अनुमंडल मंझौल हेतु दूरभाष नं.- 06243-286359/ 9473191417/ 9334131640 तथा अनुमंडल तेघड़ा हेतु दूरभाष नं. – 06243-296568/9473191415 पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।
जिला प्रशासन द्वारा संचालित विभिन्न चार आपदा केंद्रों यथा ज्ञान भारती स्कूल, बस स्टैंड, बेगूसराय, सामुदायिक भवन, बाघा एवं मध्य विद्यालय, बलिया के माध्यम से अब तक लगभग 7,000 जरूरतमंद लोगों को भोजन एवं आवासन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। देश के विभिन्न हिस्सों में बेगूसराय जिले के फंसे हुए लोगों के सहायतार्थ जिले में गठित प्रवासी मजदूर सहायता कोषांग के माध्यम से अब तक 234 प्रवासी मजदूर द्वारा प्राप्त सूचनाओं के आधार पर उनके समस्याओं का निवारण किया गया।
Share To:

Post A Comment: