MUMBAI : देश के गृह मंत्री अमित शाह ने सीआईएसएफ के एक सिपाही को फो कर अपने घर पर आने का न्योता दिया है. सीआईएसएफ का ये सिपाही कोरोना वायरस से पीडित हो गया है. अमित शाह ने उसका मनोबल बढ़ाने के लिए खुद उससे लंबी बातचीत की. 
अस्पताल में पहुंचा देश के गृह मंत्री का फोन
 मिले ऑडियो क्लीप में गृह मंत्री अमित शाह और कोरोना वायरस से पीड़ित जवान के बीच बातचीत का ब्योरा है. कोरोना वायरस का शिकार बना जवान मुंबई के कस्तूरबा हॉस्पीटल में इलाज के लिए भर्ती है. शनिवार को उसके पास देश के गृह मंत्री का फोन पहुंचा. अमित शाह के फोन कॉल से सीआईएसएफ जवान भौंचक्का रह गया.
फोन पर अमित शाह ने जवान का हालचाल पूछा. उन्होंने कहा-“आपने देश की सेवा में अपना महान योगदान दिया है. हम आपके ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं. कभी निराश मत होइये. आपने दूसरों की मदद की है, ईश्वर आपकी मदद करेगा. मजबूत बनिये और कोरोना वायरस का मुकाबला करिये. 
गृह मंत्री के फोन कॉल से उत्साहित जवान ने कहा है सिर्फ वो ही नहीं बल्कि पूरी सीआईएसएफ देश की सेवा में पीछे नहीं रहेगी. जवान ने कहा ” सर, आप हमारे साथ हैं. इससे बडी बात क्या हो सकती है. हम कोरोना वायरस को जरूर मात देंगे.”
अमित शाह ने जवान को घर आने का न्योता दिया
केंद्रीय गृह मंत्री ने जवान से बातचीत के दौरान उसे अपने घर आने का भी न्योता दिया. अमित शाह ने कहा कि जब वे ठीक हो कर अस्पताल से बाहर आ जायें तो मिलने के लिए दिल्ली आयें. गृह मंत्री ने जवान को कहा “ अस्पताल से बाहर आने के बाद मेरे घर पर फोन कर मैसेज छोड दीजियेगा. मैं आपको खुद कॉल कर लूंगा. उसके बाद आप मेरे घर आइये.” उत्साहित जवान ने कहा “ सर, मैं आपसे मिलने जरूर आऊंगा. जय हिंद सर.” 
देश के गृह मंत्री का जवान से बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया है. केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवान और अधिकारी लगातार इसे शेयर कर रहे हैं. CISF के एक अधिकारी  से बात करते हुए कहा कि इससे बडी बात क्या हो सकती है कि देश के गृह मंत्री जवानों से बात कर उनका मनोबल बढ़ाये. इससे पूरी फोर्स का मनोबल बढ गया है. ट
गौरतलब है कि देश के एयरपोर्ट की सुरक्षा करने वाले सीआईएसएफ के 11 जवान कोरोना वायरस के शिकार हो गये हैं. इसके बाद 152 जवानों को क्वारंटाइन कर दिया है सीआईएसएफ कोरोना पीडितों के संपर्क में आये अपने हर जवान और अधिकारी की जांच कराने में लगा है.

Share To:

Post A Comment: