कोरोना संक्रमण की वजह से देशभर में लॉक डाउन चल रहा है और इस लोक डाउन के कारण लोग अपने घरों में कैद हैं यही वजह है कि लोगों की आजीविका पर भी इसका खासा असर पड़ा है। इस लॉक डाउन में स्कूल, कॉलेज,सब चीजें पूरी तरह से बंद है, लेकिन अब शिक्षा विभाग और कर्मियों के लिए एक राहत भरी खबर आई है। दरअसल, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से लागू लॉक डाउन राज्य के विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के शिक्षकों को आर्थिक मोर्चे पर राहत मिल सकती है इसके लिए शिक्षा विभाग भी तैयारी में जुट गई है। शिक्षा विभाग इन्हें एकमुश्त वेतन पेंशन की राशि देने की तैयारी में लगी हुई है।
शिक्षा विभाग राज्य के विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के शिक्षकों और वहां पर काम कर रहे कर्मचारियों के लिए एक साथ तीन माह की वेतन देने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है वित्त विभाग की सहमति मिलने के बाद ही अब आगे की प्रक्रिया शुरू होगी, यदि सब कुछ ठीक रहा और वित्त विभाग की सहमति मिल गई तो मार्च ,अप्रैल और मई महीने का वेतन व पेंशन खाते में जल्द ही चली जाएगी. हालांकि वेतन और पेंशन की राशि का भुगतान विश्वविद्यालय करते हैं. शिक्षा विभाग अनुदान के रूप में राशि विश्वविद्यालयों को जारी करता है. शिक्षक और कर्मियों को मिलाकर इनकी संख्या करीब 40,000 है। तो शिक्षकों और कर्मियों के लिए यह वाकई में एक राहत भरी खबर हो सकती है।
Share To:

Post A Comment: