जिले में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों से आ रही शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन नें सभी प्रखण्डों के वरीय प्रभार पदाधिकारियों को सभी सेंटरों की जांच करने का निर्देश दिया है.

उन्होनें सभी क्वारंटाइन सेन्टरों की जांच कर वहां समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया हैं.बता दें कि जिला में लौटे अप्रवासी लोगों को गांव के स्कूल व पंचायत भवन में क्वारंटाइन कर सारी बुनियादी सुविधाएँ सरकारी स्तर पर उपलब्ध करायी जा रही है.

लेकिन कुछ प्रखण्डों के क्वारंटाइन सेन्टर से लोगों के भाग जाने एवं खाने-पीने की समुचित व्यवस्था नहीं रहने जैसी शिकायतें आ रही थी. इसपर अमल करते हुए जिलाधिकारी ने आज सभी प्रखण्डों के वरीय प्रभार पदाधिकारी को क्वारंटाइन सेंटर पर कमियों को तुरंत दूर करने का निर्देश दिया हैं.

क्वारंटाइन सेन्टरों की जिम्मेदारी तय

जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन ने कहा कि सभी अधिकारियों को यह पहले ही स्पष्ट कर दिया गया है कि क्वारंटाइन सेन्टरों में भोजन व आवासन का पूरा खर्चा आपदा विभाग मद से किया जाएगा.

 इसके साथ ही सभी पंचायतों में उपलब्ध चतुर्थ, पंचम वित्त आयोग की अनुदान राशि से भी व्यय करने का निर्देश दिया गया है.

 फिर भी क्वारंटाइन सेन्टरों में रोशनी, भोजन, पानी इत्यादि की कमी होती है तो संबंधित प्रखण्ड विकास पोदाधिकारी, ग्राम पंचायत मुखिया इसके लिए सीधे जिम्मेवार होंगे.

डॉ त्यागराजन ने बताया कि क्वारंटाइन नियमों का पालन नहीं करने वाले लागों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी. उन्होने बताया की वरीय पदाधिकारियों के औचक निरीक्षण में बहेड़ी, किरतपुर, कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखण्डों को छोड़कर बाकी प्रखण्डों के क्वारंटाइन सेन्टरों में स्थितियाँ ठीक-ठाक पाई गई है.

वही उन्होंने कहा की जिन प्रखंडों के क्वारंटाइन सेन्टरों की व्यवस्था अच्छी नहीं पाई गई है, उक्त प्रखंड के अधिकारियों के विरूद्ध स्पष्टीकरण पूछते हुए, विभागीय कार्यवाही चलाने की चेतावनी दी गई है.
Share To:

Post A Comment: