राज्य में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों ने सरकार की नींद उड़ा दी है. लॉकडाउन लागू होने के बाद बिहार के अंदर कोरोना पोजिटिव केस कम नहीं हो रहे हैं. हर दिन यह मामला बढ़ता ही जा रहा है. खासकर पटना के पड़ोसी जिले बेगूयसराय में. इसे ध्यान में रखते हुए पटना जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट हो गया है. गुरुवार को पटना के डीएम कुमार रवि ने इस मामले में एक सख्त कार्रवाई की है. एक बड़ा कदम उठाया है.
डीएम के आदेश पर तत्काल प्रभाव से पटना-बेगूसराय के बॉर्डर को सील कर दिया गया है. अब न तो पटना से कोई व्यक्ति बेगूसराय जा सकता है और न ही वहां से कोई व्यक्ति पटना जिला में इंट्री कर सकता है. डीएम कुमार रवि ने इस मामले में बाढ़ के एसडीएम और एसडीपीओ को तत्काल प्रभाव से बॉर्डर को सील करने का आदेश दिया है. इन दोनों को लगातार बॉर्डर इलाके की मॉनिटरिंग करने को कहा है.
डीएम ने यह भी कहा है कि मेन रूट के साथ ही पटना-बेगूसराय को कनेक्ट करने वाले हर संभावित रास्ते को पूरी तरह से बंद किया जाए. इसमें किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं होनी चाहिए. बॉर्डर इलाके सभी संबंधित थानों की पुलिस टीम को पूरी तरह से मुस्तैद रहने का निर्देश डीएम की तरफ से दिय गया है. अपने इस निर्देश में डीएम ने एक बात स्पष्ट कर दी है कि पटना-बेगूसराय बॉर्डर सील किए जाने के बाद भी आवश्यक सामानों को लेकर जाने वाली गाड़ियों का परिचालन लगातार जारी रहेगा. हालांकि आवश्यक सामान लेकर आने-जाने वाली गाड़ियों की प्रोपर चेकिंग की जाएगी. बगैर चेकिंग के एक भी गाड़ी की इंट्री पटना में नहीं होगी. इस बात पर खास ध्यान देने को कहा गया है.
डीएम की मानें तो बेगूसराय में कोरोना पॉजिटिव पेशेंटे मिले हैं. इनके कांटैक्ट डिटेल्स को ट्रेस किया जा रहा है. इनके बारे में यह भी पता किया जा रहा है कि ये पॉजिटिव मिले पेशेंट ने विदेश यात्रा की थी या नहीं? इनके कांटैक्ट में कौन-कौन लोग आए थे? इसके पूरे डिटेल्स पता किए जा रहे हैं. इन्हीें बातों को ध्यान में रखते हुए बॉर्डर को सील करने का कदम उठाया गया है.
Share To:

Post A Comment: