भारत में भले ही महाराष्ट्र और गुजरात में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, लेकिन एक कंप्यूटर मॉडल से किए गए हालिया विश्लेषण से पता चला है कि बिहार भी आने वाले दिनों में खतरनाक जोन के रूप में उभर सकता हैं। बिहार के अलावा झारखंड व पश्चिम बंगाल में भी कोरोना अपना कहर बरपा सकता है।
केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 केस की संख्या, डबलिंग रेट और टेस्टिंग के हिसाब से जिलों की नई लिस्ट तैयार की गई है। इसमें बताया गया है कौन सा जिला किस जोन में आता है और किस तरह सख्ती बरती जाएगी। इस लिस्ट के हिसाब से बिहार के 38 जिलों में से पांच जिले रेड जोन में शामिल हैं। वहीं, 20 जिले ऑरेंज तो 13 जिले ग्रीन जोन में हैं।
रेड जोन वाले जिले
मुंगेर, पटना, रोहतास, बक्सर और गया।
ऑरेंज जोन वाले जिले
नालंदा, कैमूर (भभुआ), सिवान, गोपालगंज, भोजपुर, बेगूसराय, औरंगाबाद, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, भागलपुर, अरवल, सरन, नवादा, लखीसराय, बांका, वैशाली, दरभंगा, जहानाबाद, मधेपुरा और पूर्णिया।
ग्रीन जोन वाले जिले
शेखपुरा, अररिया, जमुई, कटिहार, खगरिया, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, पशिचम चंपारण, सहरसा, समस्तीपुर, शिवहर, सीतामढ़ी और सुपौल।
बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 425 पहूंची
बिहार में गुरुवार को अब तक कोरोना के 21 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही राज्‍य में अब कोरोना संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 425 तक पहुंच गई है। 21 नए पॉजिटिव केस में मुंगेर के जमालपुर में 3, रोहतास 11, सीतामढी 4, सारण 2, औा पटना में 2 कोरोना मरीजों की पहचान की गई है। इसके अलावा राज्य में 84 मरीज स्‍वस्‍थ होकर अस्‍पताल से घर लौट चुके हैं। वहीं अभी तक दो मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है।
22,672 सैम्पलों की जांच की गई
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की शाम तक राज्य में 22 हजार 672 सैम्पलों की जांच की जा चुकी है। राज्य के छह प्रयोगशाला में कोरोना के संदिग्ध मरीज के स्वाब की जांच की जा रही है।
Share To:

Post A Comment: