भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के अध्यक्ष आशुतोष कुमार ने आज एक  नए राजनीतिक पार्टी का एलान किया है। अब राष्ट्रीय जन जन पार्टी नाम से एक नई राजनीतिक  पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव  में हिस्सा लेगी । अब देखना दिलचस्प होगा की राजनीति में एक नया उलटफेर होने की संभावना बनती है या नहीं । लेकिन एक बात तो तय है कि इसमें सबसे ज्यादा नुकसान भाजपा का होने वाला है क्योंकि भाजपा का कोर वोटर  सवर्ण ही हैं।

नीतीश कुमार से परेशान जहां जनता नए विकल्प को देख रही थी वही आशुतोष कुमार ने बिहार की जनता को राष्ट्रीय जन जन पार्टी के रूप में एक नया विकल्प दिया है अब देखना यह है कि आगामी विधानसभा चुनाव में आशुतोष कुमार की राष्ट्रीय जन जन पार्टी क्या  कमाल दिखा पाती।

इस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार का कहना है कि बिहार में 15 सालों से नीतीश कुमार की सरकार है लेकिन लोगों को रोजगार करने के लिए बिहार से बाहर जाना पड़ता है। यहां बिजली तो है लेकिन छात्रों के जीवन में अंधकार ही अंधकार है।  शिक्षा की व्यवस्था तो यहां चरवाहा विद्यालय से भी बदतर हो चुकी है ।विद्यालयों में ना तो शिक्षक मिलते हैं और ना छात्र फिर ऐसे में कैसे तरक्की करेगा बिहार । युवाओं के लिए बिहार में कोई सुविधा मुहैया कराने का नाम नहीं लेती है फिर लोग वैसी निकम्मी सरकार को क्यों चुने ।

आशुतोष ने कहा कि गरीब को गरीब करने में बहुत बड़ा हाथ है जातिगत आरक्षण का है जिसका नतीजा है कि इस योजना का लाभ गरीब को ना मिलकर उस जाति के संपन्न लोगों को मिल रहा है इसलिए हमारा मुद्दा साफ है कि हम आर्थिक आधार पर आरक्षण चाहते हैं। जिससे कि समाज के हर तबके के गरीब को लाभ मिल सके। इस टूट-फूट और जातिवाद के परंपरा को तोड़ते हुए हम सर्व समाज से अपील करेंगे कि आप अगर बिहार तथा खुद का उत्थान चाहते हैं तो आप को खोखला करने वाले नेताओं के सबसे पहले दरकिनार करना होगा। हमारे साथ बिहार के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करना होगा। हमारी पार्टी का उद्देश्य बिहार के किसानों को बिचौलियों मुक्त करना है। हम पंजाब के तर्ज पर हम किसान से सीधा अनाज की खरीदारी करेंगे।
Share To:

Post A Comment: