कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए प्रवासियों क्वारंटाइन करने के सरकार ने पंचायत स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर बनाया। इसी के तहत पीरी बाजार थाना क्षेत्र के मध्य विद्यालय बसौनी में क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया। मगर यहाँ रह रहे मजदूरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां रह रहे लोगों ने बताया कि हमलोगों को न खाने की व्यवस्था है न पीने के शुद्ध पानी की। विद्यालय में लगे चापाकल से गंदा पानी निकल रहा है। क्वारंटाइन सेंटर पहले 9 प्रवासी रह रहे हैं मगर शुक्रवार संध्या 4 प्रवासी और आ जाने के बाद संख्या बढ़कर 13 हो गई है। रह रहे प्रवासी को खाना एवं पानी घर से मंगवाना पड़ रहा है। ऐसे में परिजनों को वहां आकर खाना देना मजबूरी हो गई है। इस बदतर व्यवस्था से मजदूर भूखे रहने को बेबस है। इस बदतर व्यवस्था के संबंध में जब सीओ सूर्यगढ़ा सुमित कुमार आनंद से संपर्क करना चाहा  लेकिन फोन नहीं उठाया गया। जब बीडीयो से संपर्क कर बताया गया एवं सीओ द्वारा फोन नहीं उठाने की बात कही गई तो उन्होंने सीओ से बात कर बताने की बात कही। उसके बाद उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया। जब इस समस्या को लेकर कस्बा पंचायत के मुखिया कपिल देव पासवान से पूछा गया तब सिरे से नकारते हुए उन्होंने बताया कि हम कुछ भी नही कर सकते है जो भी करेगे वो सीईओ साहब ही करेगे।फिर व्यवस्था के बारे में विद्यालय के प्रभारी अरविंद कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी मुझे इससे संबंधित निर्देश प्राप्त हुआ है शुक्रवार रात्रि से भोजन की व्यवस्था की जाएगी।
रिपोर्टर उत्तम कुमार
Share To:

Post A Comment: