एसटीइटी,दरोगा,कॉन्स्टेबल परीक्षा सहित सभी परीक्षाओं की सीबीआई जांच कराई जाए, एसटीईटी परीक्षा मनमाने तरीके से रद्द करने के फैसले को वापस लिया जाए, सभी लंबित परीक्षाएं पारदर्शी तरीके से आयोजित किया जाए एवं लंबित परिणाम जारी किया जाए, अप्रैल-जून 4 माह का स्कूल फी रूम रेंट, बिजली बिल माफ किया जाए, माफी की स्थिति में कमजोर स्कूलों की फीस एवं मकान मालिकों के किराए की भरपाई सरकार करें। कोरंटाईन केंद्रों की व्यवस्था दूर कराई जाए। राज्य के अंर काम के अवसर ढूंढ घर लौट रहे मजदूरों को राज्य के अंदर काम दिया जाए।BNEGA, भगत सिंह रोजगार गारंटी लागू कर सभी को सम्मानजनक रोजगार दिया जाए, सहित जिले के विभिन्न सवालों को लेकर अपने राज्यव्यापी कार्यक्रम के तहत आज दिनांक 30 मई 2020 को ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के कार्यकर्ताओं ने अपने कार्यालय पटेल चौक सहित जिले के विभिन्न अंचलों एवं शाखाओं में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया। मटिहानी अंचल परिषद में एआईएसफ नेता एवं जी डी कॉलेज छात्रसंघ विश्वविद्यालय प्रतिनिधि अनंत कुमार के नेतृत्व में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन लॉक डाउन का पालन कर दैहिक दूरी बनाकर प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए एआईएसएफ नेता एवं जीडी कॉलेज छात्रसंघ विश्वविद्यालय प्रतिनिधि अनंत कुमार ने कहा कि बिहार स्तरीय तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं में लगातार धांधली हो रही है इससे सरकार के शिक्षा व्यवस्था का पोल खुल रही है। दूसरी तरफ इतनी मेहनत से परीक्षा आयोजन के बाद मनमाने तरीके से सरकार द्वारा एसटीटी के परीक्षा को रद्द करना शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त करना है, इसके खिलाफ राज्य भर के बेरोजगार युवाओं एवं छात्रों को एकत्रित होकर सरकार के इस रवैया के खिलाफ आर पार की लड़ाई को अख्तियार करना चाहिए।

एआईएसएफ नेता राजू शर्मा ने कहा कि विक्रम पोद्दार की पुलिस कस्टडी में मौत जांच का मामला है जिसकी उच्चस्तरीय जांच के लिए संगठन के वीरपुर अंचल मंत्री लगातार संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन वहां के पुलिस की मिलीभगत से वहां के कुछ दबंग और गुंडे तत्व के द्वारा ऋषभ पर लगातार हमला किया जा रहा है। उसकी जान लेने की कोशिश की जा रही है, इस मे जब कामयाबी नहीं मिलती है तो ऋषभ कुमार पर फर्जी मुकदमा करवा कर वहां के माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है, अगर ऋषभ पर से फर्जी मुकदमा वापस नहीं लिया गया तो हमारा संगठन जिला प्रशासन के खिलाफ उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगा जिसकी सारी जवाबदेही जिला प्रशासन की होगी। एआईएसएफ नेता राजेश कुमार ने कहा कि जिले में लगातार अपराधिक घटनाएं बढ़ रही है, अपराधियों के द्वारा लगातार  खूनी खेल खेला जा रहा है, उसके बाद आज एक पुलिस कांस्टेबल की हत्या जिले के बढ़ते अपराध करने वालों का मनोबल बढ़ाता ही है साथ ही, पुलिस महकमे की व्यवस्था का भी पोल खोलता है। हमारा संगठन मांग करता है कि जिले के बढ़ते अपराध पर अविलंब रोक लगाई जाए।

 उक्त कार्यक्रम के मौके पर अमर शंकर कुमार छोटू कुमार श्रवन कुमार अमित  कुमार  रौशन कुमार  मिथलेश कुमार अभिषेक कुमार शिवम् कुमार परमजीत कुमार कन्हैया कुमार सहित दर्जनों छात्र नेता थे।
Share To:

Post A Comment: