प्रवासियों ने बेगूसराय जिला प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप कहां 24 00सौ रुपये तो दूर महज 24रुपये भी नहीं किए गए हैं खर्च
बिहार के बेगूसराय में  सुशासन बाबू का हर दावा हुआ खोखला साबित, अधिकारियों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों के खिलाफ कोरेनटाइन वार्ड से बाहर निकल किया सड़क जाम एवं आगजनी
24 00 रुपये की जगह 24 पैसे की भी ख़र्च नही
बिहार के बेगूसराय में  सुशासन बाबू द्वारा कोरोना वायरस से वचाव के उठाए गए  हर कदमों का दावा खोखला सावित हो रहा है। पीड़ित व्यक्ति कॉरेनटाईंन से बाहर निकल कर सड़कों को घंटो जाम कर यातायात वाधित कर दिया ।इतना ही नहीं आक्रोशित लोगों ने आगजनी करते हुए अधिकारियों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा लूट खसोट के खिलाफ अपना विरोध जताया।घटना की सूचना मिलते ही   सदर अंचलाधिकारी  मुफसिल थाने की पुलिस के साथ मौके पर पहुंच लोगों को समझाने बुझाने में लगे रहे लेकिन कुव्यवस्था की जानकारी वयां करते हुए लोग राज्य  सरकार द्वारा की गई सुविधाओं के मुहैया की मांग पर डटे थे।
पीड़ित द्वारा अधिकारियों से लगातार सवाल उठा रहे थे कि यदि सरकार के द्वारा यही व्यवस्था है तो मुझे कोई एतराज नहीं लेकिन यदि सरकार ने हम लोगों के लिए कोई व्यवस्था की है तो हमें उपयोगी सामग्री सैनिटाइजर फेस मास्क एवं हैंड वाश कम से कम मिलनी  चाहिए जिससे हमलोग अपनी सुरक्षा कर सकें। वहीं दूसरे ने शिकायत करते हुए बताया कि एक रूम में 10-15  लोग रहते हैं जहां सोशल डिस्टेंस का अनुपालन कर पाना मुश्किल हो रहा है
Share To:

Post A Comment: