मटिहानी : कोविड -19 के कारण विगत 25 मार्च से लगातार जारी लॉकडाउन ने आम जनता की परेशानी बढ़ी है. पशुपालकों की अवस्था और भी जटिल हो गयी है. स्वास्थ्य सेवा से जुड़े डॉक्टर, नर्स,आशा,ममता,वैक्सीन कोरियर मानव जीवन की रक्षा के जंग में बिना सुरक्षा उपकरण अपना जीवन जोखिम में डालकर सेवारत हैं. केरल सरकार की तर्ज पर राशन, रसोई गैस और सहायता राशि अर्थात लॉकडाउन भत्ता सबके लिए उपलब्ध होना चाहिए था लेकिन केंद्र और राज्य सरकार भाषण से ही लोगों का मन बहलाने में लगी हुई है.

उक्त बातें बिहार राज्य किसान सभा के रामदीरी इकाई द्वारा प्रखंड क्षेत्र के रामदीरी पंचायत तीन नकटी टोला में आयोजित किसान आक्रोश प्रतिरोध सभा को संबोधित करते हुए सीटू राज्य सचिव सह किसान नेता अंजनी कुमार सिंह ने कही. उन्होंने प्रखंड कार्यालय को सरकारी व जन कल्याणकारी योजना का विक्रय केंद्र बनाये जाने की कार्यप्रणाली की तीव्र भर्त्सना करते हुए कहा कि फसल सहायता राशि से वंचित किसानों को शीघ्र राशि का भुगतान सुनिश्चित नहीं किया जायेगा तो आर पार का आंदोलन किया जायेगा.

किसान आक्रोश प्रतिरोध सभा की अध्यक्षता पंकज कुमार सिंह एवं संचालन मनोहर सिंह ने किया. किसान आक्रोश प्रतिरोध सभा को पूर्व शिक्षक व वर्तमान किसान नेता जनार्दन सिंह, पैक्स अध्यक्ष निरंजन कुमार उर्फ रिंकू, पंचायत किसान नेता अजय कुमार सिंह, पूर्व सरपंच शंभू कुमार सिंह, वार्ड प्रतिनिधि मंगल सिंह , सालन कुमार, बौकु सिंह आदि ने संबोधित करते हुए कहा कि किसानों, मजदूरों को काॅरपोरेट व्यापारियों के यहां गिरवी रखने की साजिश का जवाब दिया जायेगा.
Share To:

Post A Comment: