देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना महामारी को प्रतिदिन दूसरे प्रदेशों से प्रवासी मजदूरों का आने का सिलसिला जारी है। ऐसे में प्रवासियों के लिए क्वॉरंटाइन सेंटर बनाया गया है। जिसमें बाहर से आने वाले प्रवासियों को ठहराया जा रहा है। पीरी बाजार क्षेत्र में मध्य विद्यालय बसौनी सहित कई अन्य  जगहों पर क्वॉरंटाइन सेंटर बनाया गया है। मगर सरकार की ओर से दी जाने वाली सुविधा क्वॉरंटाइन सेंटर पर ना के बराबर है।सिर्फ खानापूर्ति बन कर रह गई है। मजबूरन सेंटर पर प्रवासियों को अपने घरों से खाना एवं पानी मंगवाना पर रहा है।इस से महामारी बढ़ने का खतरा ओर बढ़ सकता है। सेंटर में भी पूर्व में यही व्यवस्था थी। लेकिन शुक्रवार रात्रि से सेंटर पर खाने का प्रबंध किया गया। लेकिन इसके अलावा और कोई भी सुविधा प्रवासियों को यहाँ नहीं दी जा रही है। लगातार मिल रहे शिकायत पर सीओ सूर्यगढ़ा सुमित आनंद ने बसौनी क्वॉरंटाइन सेंटर का निरीक्षण सोमवार को किया गया  एवं प्रवासियों की शिकायत सुनी। सेंटर में निरीक्षण के दौरान कई ग्रामीण भी उनके साथ कोरेनटाइन सेन्टर के अंदर थे, जो कि प्रवासी नहीं थे। मगर सीईओ सुमित आनंद ने मीडिया को अंदर आने से रोक दिया। वहां रह रहे प्रवासी राधेश्याम, ओम कुमार झा, विनित कुमार, अखिलेश कुमार आदि ने बताया की यहां आए चार-पांच दिन बीत जाने के बाद आज  सीओ आए और सिर्फ आश्वासन देकर चले गए। इसके पूर्व हमलोगों लोगों ने हो रही असुविधा के लिए सीओ को कई बार फोन किया लेकिन उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया। यहां रह रहे प्रवासियों ने बताया कि हमलोगों को मास्क, साबुन, सैनिटाइजर, तोलिया आदि कुछ भी मुहैया नहीं कराया गया है। खाने में दोनों वक्त चावल एवं नास्ता में सुबह शाम भुजा दिया जा रहा है। इससे हमलोगों की तबियत बिगड़ने लगी है। हमलोगों ने रोटी की मांग की है। इसके लिए सीओ की तरफ से कल के लिए आश्वासन दिया गया है। पर लगता है हम लोगों का क्वारंटाइन में मुढ़ी खा कर ही दिन गुजरना पड़ेगा।
रिपोर्टर उत्तम कुमार
Share To:

Post A Comment: