देश में फैले कोरोना महामारी को लेकर राज्य के बाहर बिहार राज्य के विद्यार्थियों/ पर्यटक /अन्य को लाने के लिए उनके परिजनों को संबंधित जिला पदाधिकारी के द्वारा ई-पास सशर्त निर्गत किया जाएगा, जिसमें मेडिकल स्क्रीनिंग एवं होम क्वॉरेंटाइन का स्पष्ट उल्लेख रहेगा।निजी/भाड़ा वाहन से बिहार आने की अनुमति रहेगी बशर्तें की इन लोगों के पास संबंधित राज्य के संबंधित प्राधिकृत पदाधिकारियों के द्वारा पास निर्गत किया गया हो तथा निर्गत करने वाले पदाधिकारी के द्वारा बिहार राज्य के संबंधित जिला पदाधिकारी को सूचना दी गई हो इन मामलों में बिहार राज्य के बाहर से आए भाड़ा के वाहनों को वापस लौटने की अनुमति रहेगी।बिहार राज्य के बाहर बसे प्रवासी मजदूर ‌‌‌‌‌‌भी उपरोक्त कंडिका ( क) के आलोक में वाहनों का उपयोग कर सकते हैं।। इन मामलों में सभी जिलों में वाहन कोषांग के पर्याप्त जगह अवस्था की जाएगी जहां आ रहे मजदूरों की मेडिकल स्क्रीन होगी एवं उसके पश्यताप जिले के  प्रखंड में बने क्वॉरेंटाइन केंद्र भेजने के लिए वाहनों की उचित व्यवस्था

बिहार राज्य के अंदर लॉक डाउन के पूर्व से फंसे हुए लोगों को बिहार के अंदर गंतव्य जिले में जाने के लिए अंतर जिला पास जिला पदाधिकारी अथवा उनके द्वारा प्राधिकृत पदाधिकारी निर्गत कर सकेंगे निर्गत करने वाले जिला पदाधिकारी को गंतव्य जिला के जिला पदाधिकारी को सूचित करना अनिवार्य होगा
Report by Uttam Kumar
Share To:

Post A Comment: