अनुमति तो दे दी है लेकिन संचालकों को ताजा एवं गरमा गरम खाना सप्लाई करना होगा। साथ ही रेस्टोरेंट खोलने के पहले वहां की व्यवस्था से संबंधित सुविधाओं पर अनुमंडल पदाधिकारियों से अनुमति लेनी होगी।
इसके लिए रेस्टोरेंट को पंजीकृत कराना होगा। साथ ही रेस्टोरेंट सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक खुलेंगे। डीएम कुमार रवि ने गृह विभाग के आदेश के बाद सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में होम डिलीवरी के लिए रेस्टोरेंट को खुलवा सकते हैं लेकिन वहां शर्तों के साथ ही रेस्टोरेंट संचालित होंगे। रेस्टोरेंट की गुणवत्ता की जांच फूड इंस्पेक्टर द्वारा की जाएगी। संतोषजनक पाए जाने पर ही रेस्टोरेंट को खोलने की अनुमति दी जाएगी।
सदर एसडीओ ने बताया कि रेस्टोरेंट में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को मास्क लगाना जरूरी है। साथ ही कार्यस्थल पर सेनेटाइजर की व्यवस्था होनी चाहिए। कर्मचारियों का समय-समय पर स्वास्थ्य परीक्षण भी कराना होगा ताकि बीमारी के लक्षण पाए जाने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जा सके। इसके अलावा यह भी शर्त रखी गई है कि रेस्टोरेंट संचालक एक बार में वहां कार्यरत कर्मचारियों के 33 फीसदी से ही काम लेंगे।
बिना अनुमति खोलने पर प्रशासन करेगा कार्रवाई
रेस्टोरेंट को केवल होम डिलीवरी के लिए ही खोलने का आदेश दिया गया है। लोग रेस्टोरेंट में जाकर भोजन नहीं कर सकते हैं। प्रशासन द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण की दृष्टि से जिन इलाकों को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है, वहां रेस्टोरेंट नहीं खोले जा सकते हैं। प्रशासन की अनुमति के बिना संचालित होने वाले रेस्टोरेंट पर कार्रवाई की जाएगी।
क्वारंटाइन सेंटर फॉर योगाभ्यास
डीएम ने ग्रामीण विकास के कार्यों में तेजी लाने तथा मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। क्वारंटाइन सेंटर पर नियमित रूप से लोगों को रोज योगाभ्यास एवं प्रात?कालीन व्यायाम की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। केंद्रों पर नियमित रूप से योगाभ्यास एवं प्रात?कालीन व्यायाम कराया जा रहा है। इस कार्य में विद्यालयों के शारीरिक शिक्षकों को लगाया गया है।
जारी हुए फोन नंबर :
कोरोना संक्रमण से संबंधित जानकारी एवं समस्या के समाधान के लिए जिला प्रशासन ने कई नंबर जारी किए हैं। इस पर संपर्क किया जा सकता है। अब तक इन नंबरों पर आई कॉल के बाद 10 हजार से अधिक मामलों का निष्पादन किया गया है।
डीएम ने विकास भवन स्थित नियंत्रण कक्ष के दूरभाष संख्या 0612- 2219090 से क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों से समन्वय स्थापित कर सेंटर पर दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने व अन्य आवश्यक फीडबैक प्राप्त करने का निर्देश दिया है।
क्वारंटाइन सेंटर पर हर प्रवासी की हो रही है मेडिकल जांच क्वारंटाइन सेंटर पर नियमित लोगों का मेडिकल चेकअप होता है। इसके अतिरिक्त केंद्र पर महिलाओं, बच्चों और वृद्धजनों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। बच्चों को शिशु आहार के रूप में दूध दिया जाता है। क्वारंटाइन सेंटर के संचालन के लिए डीएम के निर्देश पर प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी को सेंटर का नियमित निरीक्षण करने को कहा गया है।
में चितरंजन कुमार पाण्डेय आपके साथ
Share To:

Post A Comment: